Breaking News

जिलाधिकारी ने टीबी रोगी खोज अभियान एवं गोल्डन कार्ड कैम्प का निरीक्षण किया

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 2 जनवरी, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने टीबी अस्पताल पहुंचकर आज से शुरू हो रहे सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान का जायजा लिया। टीबी हारेगा, देश जीतेगा अभियान के अन्तर्गत 18 वर्ष से कम उम्र के क्षय रोगी को गोद लिया जायेंगा। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि टैली शीट भरने के बाद ही घर-घर मार्किंग भी करेगी।
उन्होंने निर्देश दिया कि सभी एमओआईसी तथा सुपरवाइजर फील्ड में प्रतिदिन भ्रमण करेंगे तथा अभियान का जायजा लेकर शाम को रिपोर्ट करेंगे। उन्होने कहा कि टीबी रोग एक गम्भीर बीमारी है, जो हम सबके लिए चुनौती बनी हुयी है। पूरे भारत को 2025 तक टीबी मुक्त करना है। इसके लिए हमें टीबी रोग से ग्रसित मरीजो को गम्भीरतापूर्वक चिन्हित करना होगा।
उन्होने कहा कि इस अभियान के साथ 18 वर्ष से कम आयु के टीबी रोगियों को एक व्यक्ति द्वारा गोद लिये जाने का अभियान भी शुरू किया गया है। गोद लिये गये टीबी रोगी को नियमित दवा खिलाना तथा पौष्टिक आहार देना एक बड़ी जिम्मेदारी का काम है। ऐसा करके हम एक टीबी रोगी को स्वस्थ्य कर सकते हैै। उन्होने प्रत्येक नागरिक से भी अपील किया कि 18 वर्ष से कम आयु के रोगी को गोद ले तथा उनकी देख-भाल करें।
डॉ० सीएल कन्नौजिया ने बताया कि 02 जनवरी से शुरू होकर यह अभियान 12 जनवरी तक संचालित होगा। इसमें गठित टीमें घर-घर जाकर टीबी रोगी का पता लगाएगी। इस दौरान डॉ० एके वर्मा तथा डॉ० रविंद्र कुमार वर्मा भी उपस्थित रहे।
जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन तथा अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सीएल कन्नौजिया ने आयुष्मान भारत योजना के तहत मड़वानगर में आयोजित गोल्डन कार्ड कैम्प का निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय दोपहर तक 21 गोल्डन कार्ड बीएलई द्वारा बनाया गया था। यहाॅ पर कुल 226 लाभार्थी है, जिसमें से 43 का गोल्डन कार्ड पूर्व में बन चुका है। यहाॅ पर उपस्थित डाॅ0 विवेक विश्वास ने आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *