आज की ताजा खबर

समारोहपूर्वक सेवा निवृत्त डीआईजी को विदाई दी गयी

समारोहपूर्वक सेवा निवृत्त डीआईजी को विदाई दी गयी

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 1 जुलाई, बस्ती परिक्षेत्र के डीआईजी लक्ष्मीनरायन के सेवानिवृत्त होने पर पत्रकारों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने उन्हे भावभीनी विदाई दी। प्रेस क्लब सभागार में आयोजित कार्यक्रम में डीआईजी लक्ष्मीनरायन न कहा कि मेरे जीवन का एक अध्याय आज समाप्त हो गया।
अभी मै देश और समाज के लिये बहुत कुछ करने में स्वयं को सक्षम पा रहा हूं। ऐसे में डीआईजी की भूमिका तो समाप्त हो गई लेकिन मै इस देश को वैचारिक ताकत देने के लिये एक दूसरी भूमिका का मन बना रहा हूं।
मेरे मन में बार बार यह विचार आते हैं कि देश की 70 फीसदी आबादी एक ऐसे भंवर में फंसी है जहां उसे न तो अपना लक्ष्य मालूम है और न ही मंजिल। तमाम संस्थायें उन्हे भीड़ का हिस्सा समझकर छोटे छोटे प्रलोभन देकर उनका इस्तेमाल करती रही हैं। यही कारण है कि स्पष्ट व पारदर्शी नीतियों की कमी तथा विचारों की कमजोरी के कारण उनका विकास नही हो पाया जबकि 30 फीसदी आबादी का तेजी से विकास हो रहा है। उन्होने कहा देश में एक ऐसी विचारधारा की जरूरत है जहां व्यक्ति की प्रधानता न होकर विचारों को प्रधानता दी जाये और नीतियां व्यक्ति के विकास पर केन्द्रित हों।
देश में बहुत ऐसे संवेदनशील मुद्दे हैं जिन पर लोग बात करने से भी कतराते हैं। जनता के बीच गलत तरीके से उन मुद्दों को परिभाषित कर उनकी भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
इन सबसे देश को बचाने के लिये मीडिया को भी सक्रिय भूमिका में आना होगा। उन्होने कहा समाचारों के संग्रह और सम्पादन तक ही मीडिया की जिम्मेदारी सीमित नही होती, यह सर्वमान्य है कि मीडिया के लोग बौद्धिक रूप से सक्षम होते हैं और उनके पास विचारों की ताकत भी होती है, ऐसे में उन्हे अपनी भूिमका का विस्तार करना होगा वरना ये देश विचारों की दृष्टि से कमजोर होता चला जायेगा। पत्रकारों से मिले सम्मान से अभिभूत निवर्तमान डीआईजी लक्ष्मीनरायन ने कहा कि पूरे सेवाकाल में बस्ती उनके लिये सबसे खास रहा।
यहों के लोगों से खास लगाव का यही कारण है। उन्होने कहा बस्ती में बतौर डीआईजी सेवाकाल समाप्त हुआ है लेकिन सोशल मीडिया पर हमेशा बस्ती वासियों से जुड़ा रहूंगा और उनके बुलावे पर उनके बीच रहूगा।
इससे पूर्व वरिष्ठ पत्रकार एवं उपजा के प्रदेश कार्य समिति सदस्य जयंत कुमार मिश्रा, राजुकमार पांडे, प्रेस क्लब अध्यक्ष विनोद कुमार उपाध्याय, मीडिया दस्तक के डायरेक्टर अशोक श्रीवास्तव, बेबाक मंच के लवकुश पटेल, सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश कुमार श्रीवास्तव, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, सामाजिक संस्था चित्रांश क्लब के फाउण्डर राजेश चित्रगुप्त, अध्यक्ष रत्नाकर उर्फ आदर्श श्रीवास्तव, सत्येन्द्र श्रीवास्तव, पंकज गोस्वामी, अजय कुमार श्रीवास्तव, गायक अविनाश श्रीवास्तव, पण्डित सरोज मिश्रा, परमेश्वर शुक्ला, सनम सरदार, अश्वनी श्रीवास्तव, ने फूल मालाओं से लक्ष्मीनरायन का स्वागत किया और उन्हे अंग वस्त्र, आशा कम्प्यूटर एजुकेशन के डायरेक्टर नवीन श्रीवास्तव, स्मृति चिन्ह आदि देकर सम्मानित किया।
पत्रकार प्रदीप चन्द्र पांडे, अंकुर वर्मा, सीएमएस के डायरेक्टर अनूप खरे, अमित सिंह, प्रेस क्लब संरक्षक प्रकाश चन्द्र गुप्ता, कौशल किशोर श्रीवास्तव, अनिल कुमार पांडे, अमर सोनी, रमेश गुप्ता, सिम्मी भाटिया, वशिष्ठ पांडे, महंेन्द्र तिवारी, राजेश चित्रगुप्त, डा. रामकृष्ण लाल जगमग सहित तमाम वक्ताओं ने डीआईजी के कार्यकाल की सराहना करते हुये उन्हे कुशल प्रशासक बताया। कार्यक्रम में श्री प्रकाश श्रीवास्तव, बस्ती न्यूज टाइम्स के राजेश पांडे, अंकुर श्रीवास्तव, प्रेमनाथ गोंड, रामसेवक पांडे, काशी प्रसाद दुबे, अरूणेश श्रीवास्तव, राहिल खान, आशुतोष नरायन मिश्रा, अनूप मिश्रा, तनवीर आलम, अनिल कुमार श्रीवास्तव, राकेश चन्द्र बिन्नू, विवेक गुप्ता, जीशान हैदर रिज़वी, प्रवीन कुमार चैधरी आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन प्रेस क्लब अध्यक्ष विनोद कुमार उपाध्याय ने किया।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below