आज की ताजा खबर

शोहरतगढ़ क्षेत्र में झोलाछाप डाक्टर सक्रिय

(विचार परक प्रतिनिधि द्वारा)
शोहरतगढ़ (सिद्धार्थनगर) 21 मार्च,
शोहरतगढ तहसील के आसपास कस्बों में चिकित्सा विभाग की लापरवाही वह अनदेखी के कारण झोलाछाप बंगाली की मौज ही मौज है और चांदी- चांदी हो रही है झोलाछाप डॉक्टर आकर्षक बोर्ड और कम कीमत पर इलाज का झांसा देखकर सभी बीमारी के इलाज के प्रभोलन में आकर मरीज शारीरिक और आर्थिक रुप से बर्बाद हो रहे हैं। गंभीर और गुप्त बीमारियों का शर्तिया इलाज करने वाले झोलाछाप बंगाली स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। लोगों को गंभीर बीमारी बता कर रुपए ऐठते है।कोई कार्यवाही करने व सुनने वाला नहीं है ।सरकार द्वारा नियम बनने होने के बावजूद आंख मूंद कर बैठे अधिकारी अपनी जेब भरकर मौज, मस्त करते है। मरीज परेशान है मरीज व आम नागरिक का कोई रखवाला नहीं है अगर अधिकारी सही तरीके से कार्यवाही करता है तो बिना डिग्री बिना अनुभव वाले झोलाछाप डॉक्टरों को रोका जा सकता है। शोहरतगढ तहसील के आसपास के क्षेत्र में करीब 100 अधिक झोला छाप बंगालियों के अवैध क्लीनिक चल रहे हैं जिसके बाद भी चिकित्सा विभाग अधिकारी मूक दर्शक बनकर बैठे हैं और अपने हाल में मदमस्त है कभी कभी दिखावे मात्र के लिए चिकित्सा विभाग हल्की-फुल्की कार्रवाई करके इतिश्री कर लेते हैं मौत के मामले की जानकारी. प्रशासन होने के बाद कोई ध्यान नहीं। अज्ञानता का फायदा उठाकर शोषण कर रहे हैं कुछ समय पहले झोलाछाप बंगाली डॉक्टर से खटवाड़ा एक मरीज की मौत हो चुकी है। कुछ दिन जेल में रहने के बाद भी नहीं लग सकी इन पर रोक जेल से छूटते ही फिर क्लीनिक खोल कर बेखोफ अपना क्लिनिक चला रहे हैं इनके पास भारी मात्रा में दवाइयां स्टॉक मिल जाएगा जो कि नियम के विरुद्ध है और इनको पर्ची लिखने का अधिकार नहीं होने के बावजूद भी पर्ची लिख कर मरीजों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं अगर विभाग इन पर कार्रवाई करे तो झोलाछाप बंगालियों को रोका जा सकता है ।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below