आज की ताजा खबर

शासन की मंशा के अनुरूप योजनाओ का संचालन किया जाये-दिनेश कुमार सिंह

(विचारपरक प्रतिनिधि द्धारा)
बस्ती 8 दिसम्बर , मण्डलायुक्त दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में आज मण्डलीय विकास कार्यो की समीक्षा की गयी। इस बैठक में कार्यक्रम क्रियान्वयन विभाग द्वारा निर्धारित नये प्रारूप जिसमें 62 सूत्रीय कार्यक्रम है, इस पर समीक्षा किया गया। मण्डलायुक्त द्वारा बिन्दुवार कार्यांे की समीक्षा किया गया। मण्डलायुक्त ने कहा कि शासन के प्रारूप पर अपने-अपने विभागीय कार्यो की रिपोर्ट जिला स्तरीय अधिकारी स्वंय देखकरा तथा मुख्य विकास अधिकारी एवं जिलाधिकारी को अवलोकित कराते हए पे्रषित किया जाय। देखने में आ रहा है अनेक जिला स्तरीय अधिकारी जिसमंें चिकित्सा, विकास एवं निर्माण आदि विभाग के अधिकारी अपने कार्यालय के सहायकों,कम्प्यूटर आपरेटरों से तैयार की गयी रिपोर्ट भेज देते हे। जो मानक के अनुसार तथा निर्धारित प्रारूप पर भी नहीं होती।
इसके लिए मुख्य चिकित्सा अधिाकारी बस्ती को चेतावनी देते हुए निर्देश दिया गया गलत रिपोर्ट भेजने वाले सहायकों के विरूद्ध कार्यवाही करंे। इस बैठक में उप मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सी0एल0 कन्नाौजिया उपस्थित रहे। एम्बुलेन्स सेवा के वाहनों के संचालन में औसत समय का अंकन निर्धारित न होना तथा नवजात बच्चाों की पंजीकरण संख्या भी ठीक से न होने का भी मुख्य कारण हैै। मण्डलायुक्त ने बैठक में उपस्थित तीनों जनपदों के मुख्य विकास अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि आप लोग अपने अपने जिले के सूचना पेषण में स्वंय समीक्षा करेें तथा जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी द्वारा विकास कार्यो की नियमित समीक्षा किया जाय तथा विकासपरक योजनाओं एवं ग्रामीण क्षेत्रों में तथा ग्रामों में चलाये जा रहे विकास कार्यों का नियमित मौके पर सत्यापन किया जाय तथा तहसील दिवस,समाधाान दिवस के बाद अधिकारी की टीम बनायी जाय तथा वे सब कुछ ग्राम सभााओं में कराये गये इंटरलांकिग कार्यो, मरम्मत के कार्यो एवं हैण्ड पम्प रिबोर के कार्यो का भुगतान के सापेक्ष समीक्षा भी किया जाय। क्योंकि अनेक एंेसी समस्याये प्राप्त हो रही कि कुछ ग्राम सभाओं मंे बिना काम कराये ही भुगतान कर दिया गया है। मण्डलायुक्त ने स्वच्छता अभियान एवं गा्रमीण क्षेत्रों में बनाये जा रहे शौचालय तथा अन्य कार्यो का वित्तीय प्रगति के साथ-साथ भौतिक सत्यापन भी किया जाय तथा जिन गाॅवाों को आोडीएफ घोषित किया जाना है उसकी भी पूरी जाॅच पड़तान कर मानक के अनुसाार कार्यावाही की जाय। रिपोटिंग में किसी भी प्रकार की अटकलबाजी न किया जाय क्यांेंकि आगामी सप्ताह में मुुख्यमंत्री जी द्वारा विकास कार्यो की समीक्षा किया जाना है उसमें जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिाकारी तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी होगें। इसलिए अपने अपने जिले की रिपोर्ट व्यापक अध्ययन कर जिम्मेदार अधिकारी तैयार करें तथा इसकी सूचना मण्डलायुक्त कार्यालय को दे।
मण्डलायुक्त ने कहा कि मण्डल में स्थापित धान क्रय केन्द्रो पर धान क्रय किया जा रहा है इसमें ऐसी व्यवस्था की जाय कि आगामी एक सप्ताह में धान आवक के कम से कम 50 प्रतिशत से ज्यादा धान का क्रय हो तथा किसानाों को लाभा मिले तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों खाद्य, पीसीएफ एवं अन्य अधिकारियों को समय से कार्यवाही करने तथा किसानों को निर्धारित मूल्य समय से उपलब्ध कराने के भी दिशा निर्देश दिये गये। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि सम्पर्क मार्गो को गढामुक्त करने की कार्यवाही किया जाय तथा निर्माण कार्यो में जो कार्य पूरे हो गये है उसकी सूची मण्डलायुक्त कार्यालय एवं जिलाधिकारी कार्यालय को शीघ्र उपलब्ध करायी जाय, जिससे उनके कार्यो को मा0 मुख्यमंत्री जी की लोकार्पण सूची में शामिल कराया जासके। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि अधूरे,लम्बित कार्यो का विवरण विभाग वार तैयार कर मण्डलायुक्त एंव जिलाधिकारी कार्यालय मंे पूर्ण विवरण एवं कारण सहित इसकी सूची उपलब्ध करायी जाय, जिससे शासन को भेजा जासके, इस क्रम में शासन द्वारा भी दिशा निर्देश प्राप्त हुए हैैं। मण्डलायुक्त ने स्थानीय निकाय चुनाव को शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए मण्डल के अधिकारियों एंव जनता को धन्यवाद दिया। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि किसी विभाग के अधिकारी को कार्य करने में समस्या हो तो उसको भी बताये उसको शीध्रता से समन्वय के साथ दूर किया जायेंगा। स्वास्थ्य विभाग, उर्जा विभाग, निर्माण विभाग आदि द्वारा मानक के अनुसार रिपोर्ट नही भेजने पर उसे तत्काल सुधार ले हेतु बैठक में निर्देश दिया गया। सम्पूर्ण समाधान दिवस, प्रधानमंत्री आवास योजना, आश्रम पद्धति विद्यालयों को बेहतर ढंग से संचालन करने तथा गा्रमो ंमेे सफाई कर्मी की उपस्थिति सुनिश्चित करने, स्कूलों, ग्राम पंचायतो, शासकीय परिसरो, आगनबाड़ी केन्द्रो आदि पर खराब हैण्ड पम्पों को ठीक,रिबोर करने, अस्पतालों में आवश्यक दवाईयों की आपूर्ति बनाये रखने, बीमारियों के प्रति नियमित टीकाकरण में तेजी लाने, अधूरे कार्यो को पूरा करने तथा सिचाई विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिया गया कि नहरों की सफाई प्रत्येक दशा में एक सप्ताह में कर लिया जाय तथा उसका निर्धारित रोस्टर तैयार कर समय से नहरों का संचालन प्रारम्भ किया जाय। रवी की फसल को देखते हुए पर्याप्त मात्रा में खाद्य,डीएपी आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु निर्देश दिये गये। समाजिक कार्यक्रमो छात्रवृत्त, विधवा आदि पेंशनर को समय से वितरण कराने की कार्यवाही समय से करने हेतु निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी बस्ती श्री अरविन्द कुमार सिंह ने जिले की विकास एवं अन्य कार्यक्रमों का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया सतकबीर नगर श्री मार्कण्डेय शाही ने भी अपने-अपने जिले के विकास कार्यो पर प्रकाश डाला तथा कहा कि जो भी महोदय के निर्देश है उसका नियमित अनुश्रवण कर शीध्र पूरा किया जायेंगा। सिद्धार्थनगर के जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू ने कहा कि मुख्य रूप से सरकार द्वारा चलाये जा रहे कल्याण, विकास, चिकित्सा, शिक्षा, निर्माण कार्यो का समय से पालन की आवश्यकता है। शासन के निर्देश है कि सभी प्राथमिक स्कूलों में मध्यान्हन भोजन एवं जूता मोजा स्वेटर अािद वितरित करने के निर्देशा दिये गये तथा अस्पतालों में दवाई की आपूर्ति करने के निर्देश दिये गये तथा मरीजों की दवाई बाहर से न लिखा जाय। समीक्षा मे शासन के निर्धारित नये प्रारूपों में दवा की उपलब्धता, एम्बुलेंस सेवा की स्थिति एवं उनमें तेल की आपूर्ति, अन्धता निवारण कार्यक्रम, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जननी सुरक्षा योजना, टीकाकरण, अधूरे निर्माण कार्यो की प्रगति, राज्य एवं 14वाॅ वित्त आयोग के धनराशि का व्यय विवरण, छात्रवृत्ति, पेंशन योजना, 181 महिला हेल्प लाइन, राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, राष्ट्रीय पेयजल योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, भारत स्वच्छ मिशन, विद्युत आपूर्ति, ग्रामो का उर्जीकरण, पारदर्शी किसान सेवा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, आदि कार्यो की समीक्षा बिन्दुवार किया गया। इसमें पाया गया कि जननी सुरक्षा योजना, टीकाकरण, अन्धता निवारण कार्यो में तेजी लाने की आवश्यकता है। मण्डलायुक्त द्वारा महिला हेल्प लाइन 181, मनरेगा की स्थिति, मनरेगा में मजदूरों का भुगतान एवं उनके कार्य, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, ग्रामीण पेयजल कार्यक्रमों आदि में तेजी लाने के निर्देश दिये गये। राशन कार्डो का सत्यापन तथा लोक निर्माण विभाग एवं अन्य कार्य दायि संस्थाओं द्वारा अपने से संबंधित कार्यो को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिये गये । विकास कार्यो एवं निर्माण कार्यो में गुणवत्ता के साथ तेजी लाने तथा नगरी क्षेत्र में कूडा प्रबन्धन में समुचित कार्य करने के निर्देश दिये गये है। मण्डल में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बेहतर ढंग से बनाने हेतु खराब ट्रांसफार्मरों के परिर्वतन करने के कार्यवाही करने की निर्देश दिये है। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि जिन-जिन लोगो को अभी तक बजट प्राप्त न हुये है वे अपना विवरण प्रस्तुत करे और आवश्यकतानुसार मेरे द्वारा या जिलाधिकारी द्वारा शासन को पत्र लिखवाया जाय। मुख्यमंत्री जी के कार्यालय से प्राप्त मांग,आवेदन पत्रों को भी समय से निस्तारित किया जाय और उसकी सूचना संबंधित पोर्टल,अधिकारी को दी जाय।
जिलाधिकारी बस्ती ने मण्डलीय कार्यो की समीक्षा में बताया कि जो भी कार्य हो रहे है उसको एक निश्चित समय सारणी बना लिया जाय तथा उसको नियमित अनुश्रवण कर गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाय। इस बैठक में जिलाधिकारी बस्ती अरविन्द कुमार सिंह, जिलाधिकारी सिद्धार्थ नगर श्री कुणाल सिल्कू, जिलाधिाकारी मार्कण्डेय शाही के अतिरिक्त मुख्य विकास अधिकारी बस्ती अरविन्द कुमार पाण्डेय, संतकबीर नगर हाकिम सिंह, सिद्धार्थ नगर अनिल कुमार मिश्र, अपर आयुक्त प्रशासन श्री राजाराम सहित अनेक मण्डलीय अधिकारी, संयुक्त निदेशकगण, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या श्री एनएन राय, उप निदेशक सूचना डाॅ0 मुरलीधर ंिसह अनेक मण्डलीय अधिकारी, मण्डलीय अभियान्ता आदि उपस्थित थे। बैठक के प्रारम्भ में संयुक्त विकास आयुक्त तेज प्रताप मिश्र में संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया तथा मण्डलीय अधिकारियों से समय से अपने-अपने विभागीय रिपोर्ट भेजने हेतु शासन के निर्देशो का हवाला दिया। बैठक में राजस्व वादों के निस्तारण एवं मांग,प्रार्थना पत्रों के निस्तारण में भी तेजी लाने के निर्देश दिये गये। इस बैठक में विद्युत, पीडब्लूडी, आरईएस, जलनिगम आदि विभागों के अधीक्षण,अधिशाषी अभियन्ता एवं मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below