आज की ताजा खबर

शहीदे आजम भगत सिंह को राष्ट्रनायक घोषित किया जाय

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 23 मार्च, शहादत दिवस पर क्रान्तिकारी श्रद्वांजली को रोडवेज तिराहा पर स्थित भगत सिंह पार्क में बस्ती चीनी मिल श्रमिकों, बस्ती उद्योग व्यापार मण्डल के संयुक्त तत्वाधान में शहादत दिवस पर शहीदे आजम की शहादत को याद करके, उन्हें श्रद्वांजली देकर सभा की गई। सभा को सम्बोधित करते हुए अध्यक्ष आनन्द राजपाल ने कहा कि ब्रिटिश शासकों की हुकूमत के खिलाफ भगत सिंह का संघर्ष और कुर्बानी को सदियों तक याद किया जायेगा । भगत सिंह को राष्ट्र नायक घोषित किया जाना चाहिए। सभा को सम्बोधित करते हुए किसान मजदूर मंच के प्रवक्ता श्याम मनोहर जायसवाल ने कहा कि शहीदे आजम के विचारों से अंग्रेज शासक इतने भयभीत थे कि अदालत द्वारा तय की गई सजा की तारीख 24 मार्च 1931 के एक दिन पहले ही घबराकर भगत सिंह, राज गुरू, सुखदेव को फांसी दे दी गई। भगत सिंह ने कहा था कि देश से गोरे अंग्रेज चले जायेंगे लेकिन उनकी जगह काले, अंग्रेजों का राज कायम हो जायेगा।
कुर्मी क्षत्रीय महासभा के अध्यक्ष राम कमल वर्मा ने कहा कि शहीदे आजम भगत सिंह की राह पर चलने की जरूरत आज के नौजवानों, किसानों मजदूरों की है। यदि भगत सिंह के विचारों पर आधारित व्यवस्था बनी होती तो किसान, नौजवान व व्यापारी आत्महत्या को विवश न होते।
कार्यक्रम में कृष्ण कुमार मिश्रा, अरविन्द नाथ मिश्रा, राम वृक्ष यादव रामदीन, तूफानी, तुलसी राम, छम्मनदास लखमानी, ओरीलाल, राम भरत, ओम प्रकाश, सूर्य कुमार शुक्ला, अवधेश गुप्ता, मुरारी मद्वेशिया, अदालत प्रसाद ंसजय जायसवाल, नन्द किशोर साहू सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below