आज की ताजा खबर

विधान सभा में बाढ पीडितों के छतिपूर्ति का मामला उठाऊंगा-अमर सिंह चैधरी

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
सिद्धार्थनगर 30 दिसम्बर, केन्द्र व प्रदेश सरकार में अपनी सहभागिता दर्ज करायंे अपना दल के विधायक चैधरी अमर सिंह ने सरकार पर विभिन्न आरोप प्रत्यारोप लगाते हुए कहा कि यह सरकार पूरी तरह से झुठ की पुलिंदा है। इतना ही नहीं जब इस सरकार मंे विधायक बेगाने हैं तो अन्य की बात क्या हो सकती है। नौकरशाही भी पूरी तरह से बेलगाम हैं। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष जनपद में प्रयलंयकारी बाढ़ ने शोहरतगढ विधान सभा के दर्जनांे गाव मंे जो तांडव किया उससे कितने की धन जन की हानि हुई इसका आकलन करना भी मुश्किल है।
इस बाढ विभीषिका का दौरा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी किया और प्रभावित मैरूंड गांव के लोगों को बाढ राहत छतिपूर्ति व फसल बीमा शिघ्र दिलाने का आदेश तो कर गये किंतु अभी तक बाढ पीडितों को एक भी पैसा नहीं मिला। उन्हांेने अपने खुद की सरकार पर विभिन्न आरोप लगाते हुए कहा कि जब प्रदेश के मुखिया का आदेश अभी तक फलीभूत नहीं हुआ तो मंत्री और विधायक का आदेश का क्या माने रखता है। श्री चैधरी ने कहा कि बाढ पीडितांे के राहत के संबंध में छतिपूर्ति के लिए हमने आलाअधिकारियों से लेकर अन्य संबंधित लोगांे से कई बार अथक प्रयास किया किंतु अभी तक बाढ प्रभावित मैरूंड गांव के पीडितों को प्रमाण पत्र तो मिल किंत छतिपूर्ति नही मिल पायी। इस संबध में बाढ पीडित विधायक के आवास का गणेश प्ररिक्रमा कर रहें हैं और छतिपूर्ति व फसल बीमा की मांग कर रहे हैं। जिसमें मुख्य रूप से खैरा बाजार, धनौरा, काशी प्रसाद, महदेईया, बनरही, बैदौला, गांव के रामचंदर, तिलक राम यादव, शालिग्राम, धर्मप्रकाश, हरिशचंद, बालेश्वरी श्रीवास्तव, रामसजन, राधेश्याम गुप्ता, संजय कुमार, उर्मिला, रामकुमार, सरीफ मो0 कंचल, शरीफ मो0 बाबूराम आदि दर्जनांे बाढ पीडितांे ने महज्जरनामा के माध्यम से विधायक श्री चैधरी से छतिपूर्ति एवं फसल बीमा योजना का धन दिलाने के लिए मांग कर रहें हैं। इस ंसबंध मंे विधायक श्री चैधरी ने कहा कि सरकार की मांग करते मैं थक गया हूं अब यह मामला सदन चलने पर इसे सदन में उठाउंगा। इसके अलावा अब कोई दूसरा रास्ता नहीं बच रहा है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below