आज की ताजा खबर

मानक विहीन बीज बाजार मे बिक रहा है

(विचारपरक प्रतिनिधि द्धारा)
संतकबीर नगर 17 नवंबर , स्थानीय तहसील क्षेत्र के दर्जनों कस्बों में मानक विहीन गेंहू मटर सरसों व चने के बीज धड़ल्ले से बेचे जा रहे है। इस समय बीज के बड़े आढ़तिये रातों रात क्षेत्र में किसानों के यहां से खरीदे हुए बीजों को पन्त नगर ब्रान्ड के बोरे में सील मुहर लगा कर खुलेआम बेच रहे है। लेकिन विभाग को जानकारी होने के बाद भी कोई छापे मारी नही हो रही है।
विदित हो कि इस समय गेहूं मटर चना सरसों मंसूर की तेजी के साथ बुआई चल रही है। जिसमें बुआई के लिए गेहूं बीज की नवम्बर व दिसम्बर माह माह में बहुत अधिक डिमान्ड रहता है। किसान इस समय ३७३,३४३,२९६७ ,५०२ समेत तमाम अच्छे क्वालिटी के बीजो के लिए प्राईबेट दुकानों पर चक्कर लगा रहे है। कुछ किसान तो महीनों पूर्व ही सरकारी गोदामों से उन्नत शील बीजों को खरीद कर रख लिए है। लेकिन कुछ किसान धनाभाव के चलते सरकारी गोदामों से नहीं खरीद पाये थे। क्षेत्र के धनघटा ,हैसर, शनिचरा बाजार ,पौली नाथनगर, महुली लोहरैया, उमरिया बाजार, कुशहवा समेत दर्जनों कस्बों के तमाम दुकान दार किसानों से खरीदे हुए मानक विहीन विहीन बीजों को पन्तनगर ब्रान्ड के बोरे में पैकिगं करा कर खुले आम बेच रहे हैं। किसान इस प्रकार के बीजों को खरीद कर जब अपने खेत में बुआई करता है तों बीज सही तरीके से जमता नहीं है और पैदावार भी कम होता है। ऐसी दशा में किसान अपने को ठगा महसूस कर रहा है।
क्षेत्र के किसान बाबूलाल, रांमफेर, बजरंगी, ओरी, राजेन्द्र, झिनकान, श्याम लाल समेत दर्जनों किसानों का कहना है कि आर्थिक तंगी के चलते हम लोग सरकारी गोदाम पर अनुदान में गेहू सरसों मटर का बीज नहीं खरीद पाये। लेकिन आज कल प्राइबेट दुकान दारों की चांदी हैं। हम लोग मानक विहीन बीजों को दुकानों पर खरीद कर लूटे जा रहे है। किसानों का कहना है कि तहसील मुख्यालय पर बीज के बड़े आढ़तिये द्वारा ऐसे मानक बिहीन बीजों का स प्लाई कराया जा रहा है। जिसकी शिकायत विभागीय अधिकारियों को कई बार किया गया लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। किसानों का कहना है कि इस तरह बीज के सप्लायरों से विभागीय अधिकारी मोटी रकम ऐठ कर कार्यवाही के वजाय शिकायत को ठन्डे बस्ते में डाल देते है। किसान खेतों में लम्बी पूंजी लगाने के बाद मानक विहीन बीज खरीद कर अपने को ठगा महसूस हो रहा है। इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर उप जिलाधिकारी उमेश चन्द्र निगम का कहना है कि मानक विहीन बीजों को प्राइबेट दुकान दारों के यहां बेचे जाने की जानकारी नहीं है। शिकायत मिलने पर छापेमारी के लिए विभागीय अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए जायेगे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below