आज की ताजा खबर

माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने की शिक्षकों की फ़र्जी नियुक्तियां

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
लखनऊ 24 जुलाई, आर. टी.आई. की जनसुवाई में 09 अध्यापकों का चयन फ़र्जी होने का मामला प्रकाश में आया है। माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा हरेन्द्र सिंह, शैबा बनो, पूनम रानी, मारकन्डे सिंह, सुनील कुमार मित्तल, देवेन्द्र सिंह, कमलेश प्रताप सिंह, जयपाल सिंह, धीरेन्द्र कुमार की नियुक्ति अध्यापक के पद पर की गयी थी।
यह जानकारी राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने दी। उन्होंने बताया कि सभी अध्यापकों के विरूद्ध थाना सिविल लाइन्स मुरादाबाद में प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफ0आई0आर0) दर्ज करायी गयी है, तथा अध्यापकों से कुल 29,35,130.00 रुपये वसूल किये जाने हैं।
श्री उस्मान ने बताया कि चूंकि मामला जनहित से जुड़ा हुआ है। आयोग यह समझता है कि इस पूरे प्रकरण में जांच कराया जाना न्यायहित में है। इसलिए राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए, सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 की धारा 18 (2) के तहत प्रकरण में जांच आरम्भ कर दी है।
इसलिए संयुक्त शिक्षा निदेशक, द्वादश मण्डल, मुरादाबाद को आदेशित किया गया है कि वादी/प्रतिवादी दोनों के बयान कलमबन्द करते हुए, जांच से सम्बन्धित सभी अभिलेख (आख्या) अगले 30 के अन्दर आयोग के समक्ष पेश करें, जिससे प्रकरण में अन्तिम निर्णय लिया जा सके।
उन्होंने बताया कि मामला तब संज्ञान में आया जब जनपद मुरादाबाद निवासी श्री अग्रवाल ने सूचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत जिला विद्यालय निरीक्षक, मुरादाबाद को आवेदन-पत्र देकर जानकारी मांगी कि 09 फ़र्जी अध्यापकों की नियुक्ति के सम्बन्ध में विभाग द्वारा अब तक क्या कार्यवाही की गयी है, एवं कितनी धनराशि अध्यापकों से वसूल की जानी है, इस सम्बन्ध में क्या एफ0आई0आर0 दर्ज हुई है? अधिनियम के तहत जानकारी न मिलने पर वादी ने राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर प्रकरण की जानकारी मांगी थी।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below