आज की ताजा खबर

महर्षि दयानन्द के उपदेशों को अपनाया जाय-राजेन्द्रनाथ तिवारी

महर्षि दयानन्द के उपदेशों को अपनाया जाय-राजेन्द्रनाथ तिवारी

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 27 फरवरी, स्वयं आजाद रहते हुए पूर्ण स्वराज्य के लिए शहीद होने वाले अमर क्रान्तिकारी चन्द्रशेखर आजाद की बलिदान दिवस पर स्वामी दयानन्द विद्यालय सुर्तीहट्टा बस्ती के बच्चों द्वारा प्रेरणादायक कार्यक्रमों के साथ विद्यालय का वार्षिकोत्सव मनाया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि राजेन्द्र नाथ तिवारी अध्यक्ष पूर्वांचल विद्वत परिषद ने कहा कि कृण्वन्तो विश्वमार्यम् के महान ध्येय वाक्य को मूर्त करने की दिशा में स्वामी दयानन्द विद्यालय, विद्यार्थी एवं अभिभावक आगे सफलता पावें एवं श्रेष्ठ एवं उदात्त मानव निर्माण की भावना को शिक्षा का अभिप्रेत बनायें यह मेरी शुभकामना है। वास्तव में महर्षि दयानन्द ने सत्य को ग्रहण करने और असत्य को छोड़ने की कसौटी समाज को दी है। श्री तिवारी ने वेद को विज्ञान की कसौटी पर खरा बताते हुए उन सन्दर्भोे को भी रखा जिन्हे पहले पौराणिक या काल्पनिक कहा जाता रहा। आज वैदिक गणित खगोल शास्त्र, ज्यातिष शास्त्र विज्ञान के चक्षु के रूप में संसार में प्रकाश प्रवाहमान करा रहा है।
उत्तम संस्कार घर विद्यालय व परिवार से होते हुए समाज एवं उन्नत राष्ट्र को मजबूती प्रदान करता है। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारम्भ संस्कृत, हिन्दी एवं अंग्रेजी भाषा में ईश्वर स्तुतिप्रार्थना उपासना से हुआ तत्पश्चात स्वागत गीत, भजन, लोक गीत प्रस्तुत कर बच्चों ने दर्शकों का मन मोह लिया। हिन्दी नव वर्ष से सम्बन्धित प्रेरक गीत प्रस्तुत कर बच्चों ने जहाॅ एक ओर लोगों से घर में यज्ञ करके व मिठाइयाॅ बाॅटकर नव वर्ष मनाने की प्रेरणा दी तो दूसरी ओर सारे जहाॅ से अच्छा गीत के द्वारा लोगों में देशभक्ति की भावना भरने का सफल प्रयास किया। गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र पर नृत्य कर बच्चों ने लोगों को आध्यात्म की ओर प्रेरित किया। बाबा ढोंगी है नाटक देखकर दर्शक हॅसते हॅसते लोट पोट हो गये और नाटक सुखी होने का रहस्य देखकर अपने जीवन के प्रति सचेत होने का संदेश ग्रहण किया। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं पर आधारित ओ री चिरइया गीत सुनकर वास्तव में बेटी की महत्ता समझते हुए दर्शकों की आॅखें नम हो गयी।
इसके अलावा दहेज प्रथा पर आधारित नाटक, कव्वाली, लोकनृत्य, लोकगीत व दूधवाले का इण्टरव्यू कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण रहे। इस अवसर पर प्रबन्धक ओम प्रकाश आर्य ने कहा कि आर्य समाज के सिद्धान्तों से प्रभावित होकर चन्द्रशेखर आजाद ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। इसके अलावा भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, राम प्रसाद बिस्मिल, मंगल पाण्डेय, सावरकर, लाला लाजपत राय जैसे क्रांन्तिकारियों की एक लम्बी फौज तैयार करने में आर्य समाज के विद्यालयों का बड़ा योगदान है। विद्यार्थी के हृदय में स्थापित किये गये सकारात्मक विचार उन्हे आगे चलकर आदर्श नागरिक बनने में सहायता करता है और वह अपने देश व धर्म के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करने को प्रतिक्षण तैयार रहता है। इस अवसर पर संचालिका बीना वर्मा ने बच्चों के विकास में माताओं की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए उन्हें बच्चों की संस्कारयुक्त शिक्षा के लिए प्रेरित किया। शिक्षा के साथ साथ मानव सेवा की प्रेरणा बच्चों को विद्यालय से ही मिलती है।
कार्यक्रम में मुस्कान, सलोनी गुप्ता, प्रियांशी, अनुष्का, आर्यन, राजलक्ष्मी, रोशनी, तनु, मानसी, सोनी, साक्षी, यामिनी, नैना कुमकुम, शिवांगी, दिव्या, अमीषा, अनुराधा, तान्या, शिखा चैरसिया, रूपाली, अंशिका, रोशनी खान, आॅचल, काजल, सीलू, शिवानी, रीतू, आराधना, शिखा गुप्ता, दुर्गा, कुलसुम, आंशी, मनीषा, शालिनी, निधि, अंजली, जाह्नवी, अनामिका, राधिका, आयुषी, कामना, वैष्णवी, आरती, महिमा, नैनसी, दिव्या, रीतिका, खुशी, रोहन, सुधाुशु अजुल, दिव्यांश, ओम, हिमेश, सक्षम, राज, सोनू, अमर, आयुष, आदित्यराज, सागर, किशन, राजा बाबू, अमित, सौरभ, विशाल, रजत कौशिक, नितिन, दीपक, अदित्यनाथ, मोसीन खान, उज्जवल, शिवम, सौरभ देवराज, आदित्य, शिवांशु, रितिक, राजकुमार, हिमांशु, अमन, अनिल कुमार, आदर्श, राज, मैकमहोन, महेश, शिवम, आदर्श, रौनक, अखिल, राहुल आदि बच्चों ने भाग लिया।
कार्यक्रम में अच्छा प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को भी प्रबन्ध समिति द्वारा सम्मानित किया गया। अंत में प्रधानाध्यापक गरुणध्वज पाण्डेय ने उपस्थित लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया। राजेश प्रताप सिंह ‘बागी’, दशरथ प्रसाद यादव, रचित आर्य, अर्चना आर्य, कंचनलता आर्य, रश्मि आर्य, अलखनिंजन आर्य, ओंकार आर्य, दृशिका आर्य, रजनी, रश्मि, अर्चना शोभा आर्य, पुष्पेन्द्र राजपूत, त्रिलोकीनाथ, अनूप कुमार त्रिपाठी, देवव्रत आर्य, आदित्य नारायण गिरि द्वारा पुरस्कार वितरण के पश्चात कार्यक्रम समाप्त हुआ।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below