आज की ताजा खबर

मतदाता सूची की पारदर्शिता आवश्यक-मार्कण्डेय शाही

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
संतकबीरनगर 27 दिसम्बर, भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जनपद में विधान सभा निर्वाचक क्षेत्रो की निर्वाचक नामावलियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान चलाया जा रहा है। यह कार्यक्रम जनपद में 26 दिसम्बर 2017 से प्रारम्भ हो गया है। उसी परिपे्रेक्ष्य में आज जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने जनपद के मुख्यालय पर स्थित हीरा लाल राम निवास डिग्री काॅलेज में विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण, मतदाता वोटर पंजीकरण कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए कहा कि चुनाव में मतदाता सूची अपना अहम स्थान रखती है। जितना ही सूची पारदर्शी होगी उतना ही चुनाव कराना आसान होगा और एक मजबूत लोकतंत्र की स्थापना हो सकेगी। जिलाधिकारी ने बताया है कि जनपद में यह अभियान 26 दिसम्बर 2017 से 31 जनवरी 2017 तक चलेगा। जनपद में 1403 बूथ है इसके लिए 1403 बी0एल0ओ0 की तैनाती की गई है। इसके साथ ही सभी राज नैतिक दलों के द्वारा 1403 बी0एल0ए भी तैनात कर दिये गये है। इसमें दोनेा के सहयोग से मतदाता सूची का कार्य किया जाना है।
जिसमें नये मतदाता जिनकी अर्हता 1 जनवरी 2018 को 18 वर्ष हो गई है वे नये मतदाता बन सकते है, साथ ही जो लोग मर गये है उनका नाम भी विलोपित किया जाएगा। एक मतदाता जो एक जगह से दूसरे जगह चले गये है उनका नाम भी एक जगह से दूसने जगह परिवर्तित हो कर दूसरे जगह पर जाएगा। कुछ मतदाता ऐसे है जिनका दो-दो जगह नाम है उनका भी संशोधन होगा। इसके लिए निर्धारित फार्म है। उसे भर कर देना होगा और जिनका वोटर सूची में फोटो नही लगा है। वे लेाग भी अपना फोटो देकर सूची में सम्मलित कर सकते है। जिलाधिकारी ने सभी पुनरीक्षण कार्य में प्रमुख भूमिका निभाने वाले अधिकारियेां जैसे निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (उप जिलाधिकारी) सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी जिसमें तहसीलदार, नायब तहसीलदार , खण्डविकास अधिकारी, सहायक चकबन्दी अधिकारी, सहित अन्य को निर्देश देते हुए कहा है कि निर्वाचन आयेाग से जो भी नये निर्देश आ रहें है उसका अक्षरः पालन कराते हुए सूची को बनाया जाना चाहिए। इसे गम्भीरता समझने की जरूरत है और इसका पालन करते हुए लोकतत्र की मजबूती के लिए मतदाता सूची बनाई जानी चाहिए। अगर पारदर्शिता से सूची बनेगी तो आने वाला भविष्य का चुनाव 2019 काफी आसानी से सम्पन्न हो सकेगा। इसमें सभी अधिकारी इसका अनुपालन करायेगें।
विशेष अभियान की तिथियां भी इसमें निर्धारित की गई है, जिसमें 31 दिसम्बर 2017, तथा 7, 21, 28, जनवरी 2018 हैं इस पर सभी पर्यवेक्षणीय अधिकारी और बी0एल0ए0 रह मतदाता सूची का काम करायेगे। अंत में जिलाधिकारी ने इस कार्यक्रम में आये सभी अधिकारियों एवं तहसील के कर्मचारियों को मतदाता सूची बनाये जाने में पारदर्शिता के लिए शपथ भी दिलाई और काॅलेज की छात्र छात्राओं को अपने मतदाता बनने तथा आस पास के लोगो को जागरूक करने के लिए प्रेरित किया। अपर जिलाधिकारी सत्येन्द्र नाथ शुक्ल ने कहा कि प्रतिवर्ष 1 जनवरी को आधार मान कर मतदाता सूची पुनरीक्षण का कार्य कराया जाता है अगर बूथ पर कोई मतदाता बनने या संशोधन कराने नही आता है तो बी0एल0ओ0 घर-घर जा कर सम्पर्क करते हुए त्रृतिरहित मतदाता सूची बनायेगे। यहा यह भी गौर करना है कि किसी बी0आई0पी0 और महत्वूपर्ण व्यक्ति का नाम सूची में न छूटने पाये। क्योकि ऐसे व्यक्ति चुनाव भी लड़ते है लेकिन बाद में पता चलता है उनका नाम सूची मे नही है तो ऐसे में समस्या खड़ी हो जाती है। उप जिलाधिकारी खलीलाबाद, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट आलोक यादव, ने कहा कि सूची के पारदर्शिता के लिए सभी तहसील के अधिकारी कर्मचारी पूरे मनोयोग से काम कर के इसे अंतिम रूप दे। जिससे विवाद रहित मतदाता सूची बन सके। इसका संचालन तहसीलदार अरविन्द सिंह ने किया। इस अवसर पर सहायक निर्वाचन अधिकारी ओम प्रकाश, हलीम अहमद, सलीम अहमद, सहित तहसील के लेखपाल व बी0एल0ओ0 तथा काफी संख्या में छात्र छात्राएं उपस्थित थे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below