आज की ताजा खबर

मण्डल के कई दिग्गज नेताओं को हार का मुंह देखना पड़ा

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 11 मार्च, बस्ती मण्डल के बस्ती, संतकबीरनगर और सिद्धार्थनगर जिलों की सभी 13 विधानसभा सीटें जहां भारतीय जनता पार्टी अपना दल गठबंधन के उम्मीदवारो सटक ली वही भारतीय जनता पार्टी को छोड़ समाजवादी पार्टी बहुजन समाज पार्टी और पीस पार्टी के दिग्गजों को इस चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा मण्डल की इटवा सीट से प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडे के सपा उम्मीदवार के तौर पर दसवीं बार चुनाव मैदान में उतरने से यह सीट प्रदेशा स्तर पर सुर्खियों में आ गई थी
पर श्री पांडे को इस बार चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा और वह तीसरे स्थान पर पहुंच गए इस सीट पर भाजपा के डॉक्टर सतीश द्विवेदी ने बसपा के अरशद खुर्शीद को पराजित कर जीत दर्ज की इसी तरह हरैया विधानसभा सीट पर समाजवादी पार्टी के दूसरे दिग्गज राजकिशोर सिंह को भाजपा के अजय सिंह ने पछाड़ दिया इस सीट से लगातार तीन बार विधायक रहे सपा मंत्रिमंडल के चर्चित मंत्री राजकिशोर सिंह चैथी बार चुनाव मैदान में थे प्रदेश मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री रहे रामकरण आर्य को भी भाजपा टिकट पर पहली बार चुनाव मैदान में उतरे रवि सोनकर ने पछाड़ दिया चुनाव हारने वालों में कप्तानगंज सीट से लगातार पांच बार चुनाव जीत रहे बसपा के दिगज राम प्रसाद चैधरी भी शामिल हैं जिन्हें भाजपा के चंद प्रकाश शुक्ल ने पछाड़ दिया इसी तरह पिछला चुनाव खलीलाबाद से जीते और अपने कारनामों से चर्चित पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर आयूब को भी भाजपा के जय चैबे से हार का मुंह देखना पड़ा चुनाव जीतने वाले भाजपा के दिग्गजों में पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री राम चैहान और जय प्रताप सिंह शामिल हैं
श्री चैहान ने अपनी परंपरागत धनघटा सीट से जहां जीत दर्ज की वही जय प्रताप सिंह बांसी सीट से सातवीं बार चुनाव जीतने में कामयाब रहे चुनाव जीतने वाले भाजपा के अन्य उम्मीदवारों में सोहरतगढ़ से अपना दल के अमर सिंह कपिलवस्तु से श्याम धनी राही बस्ती से दयाराम चैधरी और मेहदावल से राकेश सिंह शामिल हैं रुधौली सीट से भाजपा टिकट पर चुनाव जीते संजय जयसवाल पिछला चुनाव कांग्रेस टिकट पर जीतने के बाद पाला बदलकर भाजपा में शामिल हुए थे इस चुनाव में सबसे अहम कांटे का मुकाबला डुमरियागंज सीट पर हुआ जहां भाजपा के राघवेंद्र सिंह ने बसपा की सैयदा खातून को महज 205 वोटों से पछाड़ा है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below