आज की ताजा खबर

भोले नाथ आस्था के जल से नहाये

अनुराग कुमार श्रीवास्तव
विचारपरक सवाददाता
बस्ती 21 जुलाई , जिले के ऐतिहासिक भदेश्वर नाथ धाम शिव मन्दिर पर आज 21 जुलाई श्रावण मास के तेरस को मध्यरात्रि से ही भक्तो द्धारा भगवान भोले नाथ को आस्था का जल चढ़ा कर पूजा अर्चना शुरू किया गया।हजारो कावड़ श्रद्धालु बस्ती से भदेश्वर नाथ धाम तक 6 किलो मीटर लम्बे मार्ग पर लाईन मे लग कर अपने बारी की प्रतीक्षा कर रहे है।
आज यहां यह जानकारी देते हुए सरकारी सूत्रो ने बताया है कि 18 जुलाई से कावड़ यात्री अयोध्या धाम से सरयू नदी का पवित्र जल लेने अयोध्या के लिए रवाना हुए थे।20 जुलाई के दोपहर बाद कावडि़यो की वापसी अयोध्या धाम से भदेश्वर नाथ धाम के लिए शुरू हो गया।अयोध्या से जल लेकर लौटे हजारो कावडि़यो ने शहर के विभिन्न स्थानो विशेष रूप से कुआंनो नदी के अमहट घाट पर पूजा अर्चना करने के साथ विश्राम किये और रात्रि 11 बजते ही भदेश्वर नाथ के लिए भजन कीर्तन करते नाचते गाते प्रस्थान किये।
रात्रि के 12 बजते ही भदेश्वर नाथ धाम मन्दिर मे भगवान शिव के जयकारो के बीच जलाभिषेक का कार्यक्रम शुरू हो गया।जलाभिषेक कार्यक्रम देर रात्रि तक चलता रहेगा।अयोध्या धाम से कावडि़यो के आने का सिलसिला भी देर शाम तक चलता रहेगा।अयोध्या से जल लेकर आने वाले कावडि़यो के स्वागत हेतु स्वंय सेवी सस्ंथाओ द्धारा घघौआ,विक्रमजोत,छावनी,हर्रैया,महाराजगंज,कप्तानगंज,गोटवा,भुटहिया,अमहट घाट,डारीडीहा मे विश्राम एवं भण्डारा का आयोजन किया गया है।कावड़ यात्रियो का स्वागत करके नागरिक अपने आप को धन्यमान रहे है।
अयोध्या धाम से लेकर भदेश्वरनाथ धाम तक बोल बम का नारा गूंज रहा है।अधिकांश कावड़ यात्री 130 किलोमीटर की यात्रा पैदल चल कर पूरी किये है।नंगे पांव चलने के कारण पैरो मे छाले पड़ गये है लेकिन कावडि़यो के उत्साह मे कोई कमी नही दिखाई दे रही है।
जिलाप्रशासन द्धारा कावड़ यात्रा मेला को साकुशल समपन्न कराने के लिए स्थान-स्थान पर मेडिकल कैम्प लगाने के साथ ही बैरी केटिंग किया गया है।पूरे यात्रा मार्ग को 14 सेक्टर और 7 जोन मे बांटा गया है।भदेश्वर नाथ धाम मन्दिर और आसपास के क्षेत्र मे सीसी टीवी कैमरा लगा कर निगरानी किया जा रहा है।सुरक्षा व्यवस्था हेतु दो अपर पुलिस अधीक्षक,नौ क्षेत्राधिकारी,30 प्रभारी निरीक्षक,154 नायब दरोगा,12 सौ सिपाही और दीवान सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी कर रहे है।पी0ए0सी0 के दो कम्पनी को तैनात किया गया है।
समूचे व्यवस्था की निगरानी के लिए अमहट घाट,डारीडीहा मे विशेष कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है।
इसके अलावा जिला कन्ट्रोल रूम और परिक्षेत्रीय कन्ट्रोल रूम द्धारा पल-पल पर नजर रखी जा रही है।देर रात्रि तक एक लाख से भी अधिक कावडि़यो द्धारा जलाभिषेक किया जायेगा।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below