आज की ताजा खबर

भालचन्द्र यादव का दबदबा कायम, मुलायम सिंह ने दिया उनके पुत्र को आर्शिवाद

subodh-yadav

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
संतकबीरनगर 29 दिसंबर , पूर्व सांसद भालचन्द्र यादव ने एक बार फिर समाजवादी पार्टी नेतृत्व पर अपनी पकड़ की धाक दिखाकर अपनी ताकत का एहसास कराने में सफलता प्राप्त कर ली। महीनो पूर्व खलीलाबाद विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी घोषित पूर्व सांसद के पुत्र सुबोध चन्द्र यादव की उम्मीदवारी को लेकर चल रही कयासबाजी का अंत हो गया और आज सपा मुखिया द्वारा जारी की गई सूची में सुबोध यादव का नाम शामिल होने के साथ ही संशय के सारे बादल छंट गए।
जबकि मेंहदावल विधानसभा सीट से सीटिग विधायक एवं राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त लक्ष्मीकांत उर्फ पप्पू निषाद की सूची में नाम न होने तथा मेंहदावल से कोई प्रत्याशी न घोषित होने से अटकलो का बाजार गर्म हो गया है। ज्ञात हो कि पूर्व सांसद भालचन्द्र यादव के पुत्र सुबोध चन्द्र यादव को मार्च में ही खलीलाबाद विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी घोषित कर दिया गया था। उम्मीदवारी की घोषणा के बाद से ही सुबोध यादव कार्यकर्ताओ की टीम के साथ लगातार क्षेत्र में जनसंपर्क करने, पार्टी के कार्यक्रमो, बैठको तथा विभिन्न आयोजनो में हिस्सेदारी के साथ ही त्योहारो, खेलकूद के कार्यक्रमो सहित अन्य सार्वजनिक कार्यक्रमो में बढ-चढ कर हिस्सेदारी कर रहे है। साथ ही दैवीय आपदाओ अथवा क्षेत्र में होने वाली किसी भी घ्ाटना-दुर्घटना के समय मौके पर पहुच कर लोगो को राहत व सहायता प्रदान करने में भी जुटे रहते है।
समाजवादी पार्टी में चल रही अतर्कलह तथा गुटीय राजनीति के कारण कई बार उनके विरोधी गुट के लोगो द्वारा सुबोध यादव की प्रतयाशिता कायम न रहने की अटकले लगाई जाती रही है। इसके साथ ही उनकी उम्मीदवारी समाप्त कराने की भी कोशिशे जारी रही। हाल के दिनो तक यह अफवाह तेजी से फैली थी कि सुबोध यादव का टिकट अंत तक बरकरार नही रह जाएगा और कोई अन्य प्रत्याशी मैदान में होगा। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर भी इस तरह की खबरो का दौर चला जिसमें कहा गया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव को सौपी गई प्रत्याशियो की सूची में सुबोध का नाम नही है बल्कि उनकी जगह नकी हैदर नाम के किसी व्यक्ति का नाम आ गया है यद्यपि नकी हैदर नाम के किसी व्यक्ति का नाम जिले की सक्रिय राजनीति में कभी जाना-पहचाना नही रहा।
सोशल मीडिया की इस खबर को लेकर भी अटकलों और चर्चाओ का दौर चला लेकिन आज समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा जारी सूची में खलीलाबाद में सुबोध यादव तथा धनघटा (सुरक्षित) से अलगू प्रसाद चैहान का नाम आने के साथ ही दोनो सीटो पर चल रही चर्चाओ को विराम लग गया। सुबोध यादव की उम्मीदवारी से पूर्व सांसद भालचन्द्र यादव एक बारी फिर हीरो बनकर उभरे है तथा सपा के शीर्ष नेतृत्व पर अपनी पकड़ का एहसास कराने मे ंसफल रहे है जिसकी चर्चा, शुरू हो गई साथ ही कार्यकर्ताओ में भी उत्साह दिखाई दिया है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below