आज की ताजा खबर

भगवत कथा की महत्ता से अवगत कराया गया

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
संतकबीरनगर 11 मार्च, भागवत का फल निष्काम भक्ति है आचार्य धरणीधर विकास खंड बघौली के ग्राम सभा उतरावल में श्री धर्म सेवा संस्थान के तत्वावधान मे चल रही भागवत कथा के द्वितीय दिवस में अवध धाम से आए कथा व्यास आचार्य धरणीधर ने कहा भक्ति से मुक्ति मिलती है भक्ति के बिना ज्ञान और वैराग्य प्राप्त नहीं होते बिना ज्ञान की भक्ति अंधी और बिना भक्ति के ज्ञान अधूरा है भागवत का मुख्य विषय है निष्काम भक्ति भागवत सबके लिए है वेदांत सबके लिए नहीं है जिसे ब्रह्म को जानने की जिज्ञासा हो उसी के लिए वेदांत है योग मन को एकाग्र कर सकता है किंतु राय को विशाल नहीं मनुष्य जब तक निर्मल शरण बने तब तक उसका उद्धार नहीं होता जैसी भावना आप दूसरों के लिए रखोगे वैसी ही भावना वे आपके लिए रखेंगे दूसरों के साथ वह भाग करने वाला व्यक्ति अपने साथ ही वैरभाव करता है क्योंकि सबके हृदय में ईश्वर का वास है प्रेम रहित ज्ञान की शोभा नहीं है परमात्मा जिसे अपनाते हैं अपना मानते हैं उसी को ही अपना असली स्वरूप दिखाते हैं परमात्मा ने अपना नाम तो प्रकट रखा है परंतु अपना स्वरूप छुपा रखा है जब परमात्मा के अपने प्यारे भक्तों उसकी बहुत भक्ति करते हैं तब परमात्मा उनको अपने स्वरूप का दर्शन कराते हैं मन के गुलाम मत बनो मन को गुलाम बनाओ और अपने मन को भगवत चरणारविन्दों में लगाओ जिससे माध्यम से भगवान की प्राप्ति जीव को होती है इस अवसर पर देवचन्द्र पाण्डेय, सुरेशचन्द्र पाण्डेय, प्रधान प्रतिनिधि भीम राय, आनंद राय, रिंकू राय, प्रवीण राय, राजू राय, नूरी राय, शशि कुमार पाण्डेय, राहुल राय, शम्भु राय सहित श्रोतागण उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below