आज की ताजा खबर

बुनियादी समस्याओ को दूर करने का प्रयास करूंगा-राम शंकर गुप्ता

बुनियादी समस्याओ को दूर करने का प्रयास करूंगा-राम शंकर गुप्ता

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 18 जनवरी , देश की आजादी के सत्तर साल बाद भी बुनियादी समस्यायें मुंह बाये खड़ी हैं, गांव की जनता आज भी बेहतर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, भरोसेमंद इलाज, पक्के मकान, सिचाई के साधनों, बिजली और आवागमन के अच्छे रास्तों से वंचित है। सुविधाओं के लिये शहर की ओर मुंह करना पड़ता है।
राजनीतिक दलों की मानसिकता वोट बैंक की राजनीति और आरोप प्रत्यारोपों तक सिमटकर रह गयी है। इससे न तो देश का बहुमुखी विकास होगा और न ही लोगों को असली आजादी का अनुभव। यह बातें 309 विधानसभा क्षेत्र रूधौली के निर्दल उम्मीदवार रामशंकर गुप्ता ने कहीं। वे प्रेस क्लब सभागार में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होने कहा कि वे पिछला लोकसभा चुनाव भी लघ्े थे, जनता के बीच जाकर उनकी जरूरतों को समझा, महसूस किया कि जिस तरह से राजनीतिक दलों की मंशा है और गांव के साथ विकास के मसले पर भेदभावपूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है इससे लगता है कि अभी आगे आने वाले दो दशक तक गांवों की दशा नही सुधरेगी।
हालांकि लोकसभा का चुनाव परिणाम बहुत बेहतर नही रहा, लेकिन जनता से मिले सहयोग और उनकी आखों में दिखी उम्मीद ने पुनः विधानसभा चुनाव में ताल ठोंकने को मजबूर किया। एक मतबूत इरादे के साथ रूधौली विधानसभा का पिछघपन दूर करने, क्षेत्र में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, सक्षम सुविधाजनक अस्पताल, बेटियों के लिये बेहतर और रोजगारपरक शिक्षा, पुरानी सघ्कों के जीर्णोद्धार, नई सघ्कों के निर्माण सहित तमाम महत्वाकांक्षा लेकर मैदान में हूं। जनता का सहयोग मिला तो निःसंदेह रूधौली विधानसभा को एक पहचान दिलाऊंगा, जाति धर्म की गंदी राजनीति से बहुत ऊपर उठकर भेदभावरहित विकास करूंगा।
प्रदेश की सपा सरकार पर हमला करते हुये रामशंकर ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने युवा मुख्यमंत्री चुना था, उम्मीद थी कि पघ्लिखकर बेकार भटक रहे युवाओं को रोजगार मिलेगा, निराशा हाथ लगी, हालात ये है कि हर दो युवा के बाद एक बेरोजगार है, हाथ में कोई काम न होने के कारण युवा ऊर्जा गलत दिशा में प्रवाहित हो रही है, प्रदेश को सक्षम बनाना है तो युवाओं को रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध कराने हांगे। रामशंकर ने जनता से अपील किया कि गुण्डों माफियाओं, धनाढ्य उम्मीदवारों के प्रभाव से दूर, जाति धर्म की राजनीति से ऊपर उठकर इस बार क्षेत्र के विकास को वोट दें जिससे रूधौली विधानसभा पर लगा पिछघ्ेपन का दाग धुला जा सके।
नोटबंदी की चर्चा करते हुये रामशंकर ने कहा कि गांव की जनता तकनीकी ज्ञान से बिलकुल दूर है, अचानक हुई नोटबंदी और कैशलेस ट्रांजेक्शन का दबाव जनता को विचलित करता है।
गांव की जनता के पास एटीएम और पैन कार्ड नही है, अधिंकांश के पास आधार कार्ड नही है ऐसे में इनकी अनिवार्यता कई सवाल खघ्े करती है। गावों की बदहाली का जिक्र करते हुये उन्होने कहा कि गांव में तय नही है बिजली कब आयेगी, या फिर आयेगी या नही, तालाबों में पानी नही है, सम्पर्क मार्गों का अभाव है, उच्च शिक्षा के लिये बेटियों को शहर जाना पघ्ता है, कानून व्यवस्था का आलम यह है कि बेटियां जब तक वापस घर नही आ जाती है तब तक अभिभावक की जांन अटकी रहती है। कुल मिलाकर सरकार बदलने से काम चलने वाला नही है, अब व्यवस्था बदलनी होगी।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below