आज की ताजा खबर

बस्ती मण्डल की नदियां ऊफनायी, बाढ का खतरा बढ़ा

बस्ती मण्डल की नदियां ऊफनायी, बाढ का खतरा बढ़ा

आलोक कुमार श्रीवास्तव
विचारपरक संवाददाता
सिद्धार्थनगर 9 जुलाई, मानसून के तीन चार दिनों की वर्षा से बस्ती मण्डल के तीनों जिलों बस्ती, सिद्धार्थनगर, और संतकबीरनगर जिलों में बहने वाली प्रमुख नदियां ऊफना गई है और तटवर्ती क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है।
आज यहां यह जानकारी देते हुए सूत्रों ने बताया है कि सिद्धार्थनगर जिले में बूढ़ी राप्ती, राप्ती, बानगंगा, कूड़ा, घोघी, कुआनों, सहित अन्य नदियों नालों का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। इससे नदियों के तटवर्ती क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा बढ़ रहा है। जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ खण्ड कार्य के अधिशासी अभियंता को बन्धों का गैप भरने का निर्देश पिछले दिनों दिया गया था। लेकिन बन्धों का गैप अभी तक नहीं भरा गया है। पिछले दिनों विधान सभा क्षेत्र डुमरियागंज के विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने राप्ती नदी के बाढ़ से प्रभावित होने वाले गांवों का भ्रमण करके अधिकारियों को बाढ़ से बचाव के लिए निर्देश प्रदान किया गया था।
लोक सभा क्षेत्र डुमरियागंज के संसद सदस्य जगदम्बिका पाल ने जिला प्रशासन को निर्देश देते हुए कहा है कि प्रशासन द्वारा बाढ़ के बचाव हेतु सभी उपाय पूरा किया जाय, जिससे बाढ़ से जन जीवन को बचाया जा सके।
बस्ती जिले में सरयू, कुआनों, आमी, मनवर, रामरेखा, नदियों सहित नालों का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। सरयू नदी अयोध्या तथा छावनी के समीप खतरे के बिन्दु को छूने के लिए आतुर है। सरयू नदी के तटवर्ती बांध, बी0डी0बंधे, की स्थिति दयनीय है। स्थान स्थान पर विगत वर्षो हुए कटान को अभी तक भरा नहीं गया है। जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी, और हर्रैया तथा महादेवा के विधायक द्वारा बाढ़ बचाव के कार्यो को पूरा करने की मांग किया गया है।
लोक सभा क्षेत्र बस्ती के संसद सदस्य हरीश द्विवेदी ने जिला प्रशासन को निर्देश प्रदान किया है कि बाढ़ से बचाव हेतु सभी कार्यो को समय रहते पूरा कर लिया जाये जिससे नागरिकों को बाढ़ की विभीषिका से बचाया जा सके।
श्री द्विवेदी ने कहा है कि बाढ़ बचाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी, कर्मचारी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही होगी।
संतकबीरनगर जिले में राप्ती, सरयू, कुआनों, कठिनइया, नदी सहित नाले, वर्षा जल से ऊफान पर है। धनघटा क्षेत्र में सरयू नदी खतरे के बिन्दु के समीप पहुंचने वाली है। इस क्षेत्र के विधायक श्री राम चैहान ने जिलाधिकारी और मुख्यमंत्री को बाढ़ की समस्या से अवगत कराते हुए बाढ़ निरोधक कार्यो को अविलम्ब पूरा किये जाने की मांग किया है।
लोक सभा क्षेत्र खलीलाबाद के संसद सदस्य शरद त्रिपाठी ने बाढ़ खण्ड कार्य के अधिशासी अभियंता को चेतावनी देते हुए कहा है कि बाढ़ निरोधक कार्यो में और तेजी लाकर समय से बचाव कार्य को पूरा कर लिया जाय।
मण्डल प्रशासन, जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधियों की जागरूकता के बाद भी बाढ़ खण्ड कार्य द्वारा नदी के तटवर्ती बंधों का गैप अभी तक भरा नहीं गया है। पुराने ठेकेदारों का बकाया बिल भुगतान न होने के कारण इस कार्य में ठेकेदारों की रूचि कम है। यदि बंधों का गैप समय से भरा न गया तो आने वाले दिनों में मण्डल के नागरिकों को भीषण बाढ़ का सामना करना पड़ेगा।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below