आज की ताजा खबर

बसन्तपुर आगनबाड़ी केन्द्र उपेक्षा का शिकार

बसन्तपुर आगनबाड़ी केन्द्र उपेक्षा का शिकार

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बढ़नी (सिद्धार्थनगर) 14 अप्रैल, एक तरफ जहां सरकारें ग्रामीण इलाकों में गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की देख-भाल करने के लिए लाखों रुपये खर्च करती हैं।वहीं लगभग हर टोले और मजरे में बने आंगनबाड़ी केन्द्र देखरेख न होने के कारण जर्जर हो चुके हैं।कहीं इन केन्द्रों के लिए बने भवन में लोग भूसा रखकर उसका उपयोग कर रहे हैं तो कहीं वह जीर्ण अवस्था में हो चुका है।
बढ़नी ब्लाक के लगभग हर गांव,टोला और मजरे में लाखों की लागत का आंगनबाड़ी केन्द्र बना हुआ है।परन्तु कमीशनखोरी के चक्कर में कुछ ही वर्षों पूर्व बने इन भवनों की हालत खराब हो चुकी है।
बढ़नी ब्लाक के बसन्तपुर गांव में बना आंगनबाड़ी भवन जर्जर हो चुका है।सूत्रों के अनुसार सरकार ने हर गांवों में आंगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण इसीलिए करवाया है जिससे गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की देखभाल आसानी से हो सके।
परन्तु आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री और सहायिकाओं ने आंगनबाड़ी केन्द्रों को अपने-अपने घरों पर खोल दिया हैं।इस संबंध में मौलाना वाहिद, मोहम्मद अजमल, मोहम्मद अतहर, अली खान, रामकुमार, रहमतुल्लाह आदि लोगो ने आगनवाघ्ी केंद्रों को संचालित करने की मांग किया है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below