आज की ताजा खबर

बबिता कसौधन पुलिस की कार्यप्रणाली से खफा है

(विचारपकर प्रतिनिधि द्वारा)
शोहरतगढ़ (सिद्धार्थनगर) 14 जुलाई, 24 अक्टूबर 2016 को मेरे घर को लुटवाने वाले पूर्व थानाध्यक्ष संजय पाण्डेय को पुलिस ने अधीक्षक द्वारा अपना मुखिया बनाकर रखा गया है। इसे लेकर पुलिस विभाग में चर्चा का विषय बना हुआ है।
4 सितम्बर 2016 को धनौरा में पुजारी हत्याकाण्ड, 25 अक्टूबर 2016 को मेरे पति हियुवा के देवी पाटन मण्डल प्रभारी सुभाष गुप्ता को धनौरा मुश्तहकम गांव में पुलिस के उपस्थिति में फोन काल जाने से मारने की धमकी दी।
जिसका थाना शोहरतगढ़ में तहरीर भी दर्ज है। उक्त आरोप जारी प्रेस विज्ञप्ति में नगर पंचायत अध्यक्ष बबिता कसौधन ने कही।
उन्होने लिखा है कि धनौरा गावं में हियुवा के संरक्षक योगी आदित्यनाथ के पहुचने पर जिला प्रशासन द्वारा एक सप्ताह के अन्दर अपराधी को गिरफ्तार करने का आश्रासन दिया गया था।
एक वर्ष बीतने के बाद भी पुजारी हत्याकाण्ड के अपराधी पुलिस के पकड़ सें बाहर है। 29 मई 2017 को इशहाक चैधरी ग्राम बनरही की हत्या हुई। इसकें अपराधी भी पुलिस के पकड़ से बाहर है। 12 मई 2017 को हियुवा
के न्याय पंचायत कार्यकर्ता विदेशी पासवान की हत्या हुई। दो माह बीतने के बाद भी हत्यारे पुलिस के पकड़ से बाहर है। थाना मोहाना में गौहत्या के मुख्य अपराधी पकड़ से बाहर है। और मेरे पति 15 वर्षो से हियुवा
के संगठन का कार्य देख रहे है। प्राशासनिक सहयोग को लेकर समस्या का निदान होता रहा। आगे उन्होने लिखा है कि पुलिस अधीक्षक द्वारा थानाध्यक्षो का स्थानान्तरण एक ही सप्ताह में दो बार किया गया । इसे लेकर
मैं स्वय मुख्यमंत्री को अवगत कराउंगी और ऐसे अधिकारियो के ऊपर कार्यवाही की मांग की जायेगी।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below