आज की ताजा खबर

पति को 6 वर्ष का कारावास

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 12 दिसम्बर, फास्ट टैªक कोर्ट के न्यायाधीश अजय कुमार शाही ने पत्नी को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने वाले पति को छह वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। न्यायाधीश ने उसे दस हजार अर्थदण्ड से भी दण्डित किया है।
इसी मामले में दहेज हत्या के आरोपी बनाये गये जेठ व जेठानी तथा ससुर को अदालत ने संदेह का लाभ देकर बरी कर दिया है। न्यायालय ने पति को भी दहेज हत्या के आरोप में बरी कर दिया है। शासकीय अधिवक्ता जय गोविन्द ने अदालत में पीडि़त परिवार की ओर से पैरवी करते हुए कहा कि प िसहित ससुराल वालों ने दहेज में मोटरसाइकिल की मांग को लेकर विवादित की निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी थी।
घटनाक्रम के अनुसार गोण्डा जनपद के मनिकापुर थाना क्षेत्र के अमरपुर गांव निवासी राजेन्द्र प्रसाद ने अपनी बहन की हत्या का आरोप लगाते हुए परशुरामपुर थाना में मुकदमा दर्ज कराया था। शिकायत कर्ता ने अपनी बहन अंशू की शादी 12 मई 2009 को थाना क्षेत्र के रघऊपुर निवासी जग्गीलाल से की थी। बहन का गौना 2012 में हुआ, अंशू अपने भाई से ससुराल वालों से प्रताड़ना की शिकायत किया करती थी, 7 जून 2014 को रघऊपुर के किसी व्यक्ति ने अंशू के मरने की खबर राजेन्द्र को मोबाइल फोन पर दी थी। दोनों पक्षों के द्वारा प्रस्तुत गवाहों व साक्ष्यों का अवलोकन करने के उपरांत अदालत ने माना कि यह दहेज हत्या का मामला नहीं है।
अपितु पति की प्रताड़ना से आजिज आकर अंशु ने स्वयं आत्महत्या कर ली। विवाहित के ससुर सुखराम, जेठानी किरन देवी व जेठ राम सागर की कोई आपराधिक भूमिका साबित नहीं हो पाई है। गवाहों व सबूतों के मद्देनजर अदालत ने इन तीनों को सभी आरोपों से दोष मुक्त कर दिया।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below