आज की ताजा खबर

न्यायालय क¢ आदेश बावजूद किसानों से ली जा रही गन्ना उतरवाई

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 8 जनवरी, सहकारी गन्ना समितियों द्वारा लम्बे संघर्ष क¢ बाद कोर्ट ने गन्ना क्रय क¢न्द्रो पर किसानों से उतरवाई न लेने का आदेश मिलो को जारी किया था लेकिन न्यायालय का आदेश बेअसर साबित हो रहा है। क्रय क¢न्द्रो पर किसानों का शोषण बंद होने का नाम नही ले रहा है। लगातार किसानों से उतरवाई क¢ नाम पर रूपया लिया जा रहा है।
जानकारी क¢ अनुसार सहकारी गन्ना समिति विक्रमजोत क¢ संस्थापक अध्यक्ष डाॅ0 अरबिन्द कुमार सिंह द्वारा शासन से गन्ना क्रय क¢न्द्रों पर किसानों से उतरवाई क¢ नाम पर लिये जाने वाले रूपये पर रोक लगाने की मांग किया गया था। हल न निकलने पर समितियों द्वारा उच्च न्यायालय में वाद दाखिल कर गन्ना क्रय क¢न्द्रों पर हो रहे धनउगाही पर रोक लगाने की मांग किया गया। मामले को संज्ञान में लेते हुए उच्च न्यायालय ने इस सम्बन्ध में आदेश जारी कर दिया कि क्रय क¢न्द्रो पर किसानों से उतरवाई क¢ नाम पर पैसा नही लिया जायेगा। आदेश क¢ बावजूद ी धिरौली बाबू, बरदिया लोहार, गुण्ड़ा कुंवर, बबुरी बाबू सहित रौजा गांव में बनान चीनी मिल क¢ गन्ना क्रय क¢न्द्रो पर उतरवाई क¢ नाम पर 50 से 60 रूपया किसानों से प्रति ट्राली लेवर चार्ज लिया जाता है।
राजाराम चैधरी, रामदयाल चैधरी, नकछ¢द सिंह, त्रिलोकीनाथ सिंह, त्रिलोकी प्रसाद, रामनरायन, दीपू सिंह सहित तमाम किसानों ने बताया कि पैसा न देने पर गन्ना उतारने से मना कर दिया जाता है। इस सम्बन्ध में रौजा गांव क¢ गन्ना प्रबन्धक बिनोद कुमार सिंह बघेल ने बताया कि मिल द्वारा लेवरो क¢ लिए टेण्डर होता है। सम्बन्धित ठेकेदार को ढाई रूपया प्रति कुन्तल की दर से लेवर चार्ज दे दिया जाता है। लेवर ठेक¢दार क¢ अन्डर में होते है उनका मिल से कोई लेनादेना नही है। किसान अपनी सुविधा क¢ लिए लेवर चार्ज देता है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below