आज की ताजा खबर

निर्माण और विकास कार्यो की प्रगति में और तेजी लाया जाय-अनिल कुमार सागर

(सूचना विभाग द्वारा)
बस्ती 14 नवम्बर, आयुक्त सभागार में आयुक्त बस्ती मण्डल बस्ती अनिल कुमार सागर की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री के प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों की मण्डलीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मण्डलायुक्त ने मण्डल के तीनों जनपदों मंें स्वास्थ्य सुविधाओं, निर्माण कार्यों, ग्राम्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं सहित विविध कार्यक्रमों की गहन समीक्षा किया। समीक्षा के दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि योजनाओं में अपेक्षित प्रगति मानक गुणवत्ता के साथ करें। कम प्रगति वाले विभाग के नोडल अधिकारियों के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि अधिकारीगण लाचारी की स्थिति में न रहें। समीक्षा का मतलब मण्डल में किस योजना मंे कौन सी परेशानी आ रही है उसका रेखांकन किया जाय जिससे सम्बन्घित जनपद के जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी समस्याओं के निस्तारण में रचनात्मक सहयोग दे सकें। प्रत्यके बिन्दु पर अधिकारी अपनी पैनी दृष्टि रखें। दो माह में अपेक्षित प्रगति अर्जित न कर सकने वाले मण्डलीय अधिकारियांे के विरूद्ध कठोर कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।
मण्डलायुक्त श्री सागर ने चिकित्सकों की अनिवार्य उपस्थिति पर विशेष बल देते हुए कहा कि जो चिकित्सक निरन्तर अनुपस्थित रहने के अभ्यस्त हो चुके हों, उनकी सेवायें समाप्त किये जाने की भी कार्यवाहीं प्रारम्भ किया जाय। गत बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुपालन की समीक्षात्मक जानकारी प्राप्त करने पर बताया गया कि मण्डल के 26 चिकित्सकों के विरूद्ध वेतन बाधित करने और विभागीय कार्यवाही की प्रक्रिया चल रही है इसमें से जनपद सिद्धार्थनगर के 20 चिकित्सकंों के विरूद्ध वेतन रोकने के साथ कार्यवाही हेतु शासन को सन्दर्भित कर दिया गया है। उन्होंने अपर निदेशक स्वास्थ्य की लचर कार्य प्रणाली पर असंतोष व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि जो सीएमओ कार्य में बिल्कुल रूचि नहीं ले रहे है उन्हें तत्काल कार्यमुक्त करने की कार्यवाही किया जाय। एम्बुलेन्स सेवाओं की अद्यतन स्थिति की समीक्षात्मक जानकारी प्राप्त करते हुए मण्डलायुक्त ने निर्देशित किया कि समन्वयकों को बुलाकर आज ही स्पष्ट कर दे कि तकनीकी खराबी की निरन्तरता कदापि ठीक नहीं है। जो एम्बुलेन्स खराब हो उनके स्थान पर नयी एम्बुलेन्स उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाय। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के निर्माण में शिथिल रवैया अपनाने वाले उ0प्र0 आवास एवं विकास परिषद के सम्बन्धित परियोजना प्रबन्धक को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि बार-बार चेतावनी देने के बावजूद भी यदि निर्माण कार्य अधूरे रह गये हो तो उनका आवास सम्बन्धित भवन के आवास में शिफट करा दिया जायेगा और जब तक गुणवत्ता के साथ निर्माण कार्य पूरा नहीं करा देगंे तब तक वे वहीं अधिवास करेगें।
मण्डलायुक्त श्री सागर ने चैदहवाॅ वित्त आयोग, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज एवं छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान मण्डलीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि ऐसा कोई छात्र नहीं छूटना चाहिए जिसकी छात्रवृत्ति डेटा बैक के कारण अवरोधित हो। उन्होंने सामूहिक विवाह योजना, पेशन योजनाओ, महिला कल्याण, मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, महात्मा गाॅधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, हैण्ड पम्पों की स्थापना, खाद्य सुरक्षा अधिनियम के योजना, न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना, सड़कोें के निर्माण एवं मार्गो के अनुरक्षण, सेतुओं के निर्माण, सड़कों के गढढामुक्त सम्बन्धी कराये जाने वाले कार्य, नगरीय स्ट्रीट लाइट आदि विभिन्न योजनाओं की गहन समीक्षा किया। इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें जिससे ऐसा न हो कि एक गढढामुक्त कर दिया जाय और दूसरी तरफ सड़क पर गडढे होते रहे। तीनों जनपदों के जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी कार्यो का पर्यवेक्षण निरन्तर करते रहे। मण्डलीय अधिकारी किसी प्रकार की समस्या अथवा कार्य में किसी प्रकार के संभावित गतिरोध की सूचना अपने जनपद के जिलाधिकारी को आवश्यक रूप से देना सुनिश्चित करें। अधिकारियों में कार्य के प्रति संवेदनशीलता और दायित्व बोध होना आवश्यक है। इसके साथ ही संवादहीनता की स्थिति न आने पावे इसका भी विशेष ध्यान दिया जाना आवश्यक है।
समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी बस्ती डाॅ0 राजशेखर ने जनपद बस्ती मंे सड़कों के निर्माण तथा अन्य निर्माण कार्यो की गुणवत्ता शासकीय मानक के अनुसार बनाये रखने के लिए किये गये पर्यवेक्षणीय कार्यो की जानकारी देते हुए सम्बन्धित मण्डलीय अधिकारियों को पुनः आगाह किया कि गुणवत्ता के साथ किसी तरह का समझौता किया जाना कार्य हित में कदापि नहीं है।
एक अन्य बैठक में आयुक्त बस्ती मण्डल बस्ती अनिल कुमार सागर ने मण्डल के कर करेत्तर एवं राजस्व वसूली तथा कानून व्यवस्था की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। बैठक में राजस्व वसूली को लक्ष्य के सापेक्ष अर्जित करने के निर्देश तथा कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया।
इस बैठक में जिलाधिकारी बस्ती डाॅ0 राजशेखर सहित संतकबीर नगर के जिलाधिकारी भूपेन्द्र एस0 चैधरी, जिलाधिकारी सिद्धार्थ नगर कुणाल सिल्कू, मुख्य विकास अधिकारी सिद्धार्थनगर हर्षिता माथुर, मुख्य विकास अधिकारी हाकिम सिंह, अपर जिलाधिकारीगण, मुख्य राजस्व अधिकारीगण, चकबन्दी अधिकारीगण आदि के अलावा संबंधित विभाग के मण्डलीय अधिकारियो ने भाग लिया। बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त तेज प्रकाश मिश्र द्वारा राजस्व कार्यो का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया गया। इसके अलावा बैठक में विभिन्न विभागों के मण्डल स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below