आज की ताजा खबर

नदी की कटान से जमीन विवाद बढ़ता ही जा रहा है

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
डुमरियागंज (सिद्धार्थनगर) 11 नवम्बर, डुमरियागंज तहसील क्षेत्र के असनहरामाफी ग्राम की जमीन राप्ती नदी दिशा परिवर्तन करके लगभग 15 सालो से प्रतेक हर साल बलरामपुर जिले के सेखुईयां गांव की तरफ जमीन छोड़ रही है। जमीन के मालिकाना हक के लिए दोनो गांवो के किसान हर साल आमने-सामने खडे हो जाते है। जमीन कब्जा को लेकर घटना दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है।
आज यहां यह जानकारी देते हुए सूत्रो ने बताया है कि राप्ती नदी के दिशा परिवर्तन के कारण करीब डेढ़ दशक से उपजा जमीनी विवाद हर साल खूनी संघर्ष का रूप लेने को आतुर रहता है। बाढ़ हटने के बाद हर साल खाली हुआ जमीन पड़ोसी जिले बलरामपुर के सेखुईयां गांव की तरफ चला जाता है। जिससे अपने जमीन पर काबिज होने जाने पर सिद्धार्थनगर जनपद के असनहरामाफी गांव के लोगो के सामने सेखुईयां गांव के लोग आकर अपना बताते हुए संघर्ष पर उतारू हो जाते है।
मगर प्रशासन के हस्तक्षेप से मामला शांत हो जाता है। चली आ रही इसी समस्या के समाधान के लिए 12 नवम्बर को उतरौला और डुमरियांगंज के एसडीएम बैठकर बातचीत के जरिए इसका हल निकालने का प्रयास करेगें। दो दिन पहले राप्ती नदी के किनारे बसे डुमरियागंज तहसील क्षेत्र के असनहरामाफी गांव के लोग राप्ती नदी के दूसरे छोर पर बसे उतरौला तहसील के सेखुईयां गांव के सिवान में कटान कर छोडे गए अपने खेतो के जुताई करने आए लोगों को देख सेखुईयां गांव के लोग आकर उन्हे रोकने लगे। जिसके बाद दोनो के तरफ सैकडो लोग लाठी, डंडा और असलहा लेकर आमने-सामने खड़ा हो गये। मामला गंभीर होता देख एक युवक ने इसकी सूचना 100 नम्बर पुलिस को दे दी। जिसके बाद यही सूचना त्रिलोकपुर थाने के साथ ही उतरौला कोतवाली के बांक चैकी पर भी पहुंच गईं। जिसके बाद दोनो थानो की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। किसी तरह से हालात पर नियंत्र.ण किया गया सूत्रो के मुताबिक राप्ती नदी की कटान असनहरा गांव के तरफ है। जिससे हर साल नदी असनहरा से कटान कर जमीन सेखुईयां की तरफ छोड़ रही है। इस दौरान सैकड़ो बीघा जमीन नदी के दूसरी ओर चली गई है। जिसकी वजह से दोनो गांव के बीच यह भूमि विवाद बना हुआ है। इतना ही नही असनहरा गांव के लोगो ने समस्या समाधान और अपनी जमीन वापस लेने के लिए गांव के नक्शे के दुरूस्तीकरण के लिए हाईकोर्ट में मुकदमा भी दायर किया हुआ है।
सरकारी सूत्रो ने बताया है कि सिद्धार्थनगर जिला प्रशासन द्वारा पुलिस को सर्तक रहकर मौके की निगरानी करने का निर्देश त्रिलोकपुर थाने की पुलिस को दिया गया है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below