आज की ताजा खबर

दो व्यक्तियों को उम्रकैद की सजा

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 23 फरवरी, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश इंतेखाब आलम की अदालत ने पति की हत्या आरोप मेें पत्नी और उसके प्रेमी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। दोनों 25 – 25 हजार रूपये का अर्थदण्ड भी लगाया गया है। इसे अदा न करने पर एक वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतना पडेगा।
शासकीय अधिवक्ता लालजी यादव ने अदालत केा बताया कि संतकबीरनगर जिले की खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के पठान टोला निवासी शमीम ने 13 अगस्त 2005 को बस्ती के मुण्डेरवा थाने में हत्या कर केस दर्ज कराया था। इसमें कहा गया था कि उसका सगा भाई शमीउल्लाह पत्नी जाहिदा बेगम के साथ जलकल रोड माली टोला में रहता था। जाहिदा के संबंध खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के नौव्वा गांव निवासी अब्दुल जाहिद उर्फ बब्बू से थे। इसी को लेकर शमीउल्लाह और पत्नी जाहिदा बेगम के साथ अक्सर झगडा होता था। जाहिदा और बब्बू योजना बनाई। इसके अनुसार 11 अगस्त 2005 रात्रि में शमीउल्लाह, प्रेमी जाहिद उर्फ बब्बू, जाहिदा बच्चो के साथ खलीलाबाद के एक हाल में पिक्चर देखने गए। वहां से जाहिदा बेगम बच्चों के साथ वापस तो आ गई, मगर उसका भाई वापस नहीं आया।
आरोप है कि जाहिदा ने अपने पति बब्बू के साथ मिलकर पति की हत्या करवाकर उसका शव मुंडेरवा थाना क्षेत्र के भांटपार गांव के पुलिया में फेक दिया था। विवेचना में दोनो के नाम प्रकाश में आया था। साक्ष्यों के आधार पर न्यायालय ने दोनो को हत्या के मामले में दोषी पाया। इस आधार पर दोनो पर आजीवन कारावास और अर्थदण्ड से दंडित किया।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below