आज की ताजा खबर

दहेज हत्या में सजा

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 9 नवम्बर, फास्ट ट्रैक कोर्ट के न्यायाधीश अजय शाही ने दहेज हत्या के मामले में पति, सास व ससुर को आठ वर्ष के कठोर कारावास से दंडित
किया है। प्रत्येक को पंद्रह हजार रूपये अर्थदंड भी देना होगा। जुर्माना न देने पर पांच माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। न्यायालय ने विवाहिता की ननद को संदेह का लाभ देकर बरी कर दिया। शासकीय अधिवक्ता जय गोविन्द सिंह ने कहा कि गोरखपुर जनपद के सहजनवां थाना क्षेत्र के गांव अलगटपुर निवासी कैलाश नाथ त्रिपाठी ने अपनी पुत्री अर्चना का विवाह वर्ष 2008 में मुण्डेरवा थानाक्षेत्र कांची डढ़वा निवासी अरूण कुमार दूबे के साथ किया था।
विवाहित को पति अरूण, सास सरस्वती देवी व ससुर शक्तिदेव दूबे तथा ननद मंजूषा दहेज के लिए प्रताडि़त कर रहे थे। 16 मार्च 11 को दो बजकर पांच मिनट पर दोपहर में अर्चना ने अपने पिता से बात किया। दो बजकर सताइस मिनट पर शक्तिदेव ने अर्चना के पिता से बात कर कहा कि उसकी बेटी जल गई है। पीडि़त पिता बेटी जल गई है। पीडि़त पिता बेटी की ससुराल आया।
तो उसकी लाश घर के बाहर पड़ी थी। पक्षों की सुनने की बाद अदालत ने माना कि पति, सास व ससुर ने मिलकर निश्चित तौर पर विवाहिता क दहेज के लिए हत्या की है। जहां तक ननद का सवाल है। उसका विवाह संतकबीर नगर जनपद के महुली थानाक्षेत्र के ग्राम विश्वनाथपुर में हो चुका है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below