आज की ताजा खबर

तहसील फरेन्दा (महाराजगंज) के नये आवासीय भवनों का लोकार्पण

task-photo-786ba265-9b14-4902-bad3-b7d1c92b1135

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
लखनऊ 22 दिसंबर ,उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि पर्यावरण को हुए नुकसान की भरपाई करना सभी की जिम्मेदारी है। यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि नदियां प्रदूषित न हों और वे साफ-सुथरी रहें। समाजवादी सरकार ने इसके लिए काम किया है। समाजवादियों की यह कोशिश रही है कि भावी पीढ़ी को साफ-सुथरी नदियां एवं बेहतर पर्यावरण मिले।
मुख्यमंत्री आज यहां लोक भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में वाराणसी शहर में वरुणा नदी के चैनलाइजेशन एवं तटीय विकास परियोजना के तहत कि0मी0 9.75 से 10.25 तक निर्मित माॅडल कार्यों के लोकार्पण अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने जनपद महाराजगंज की तहसील मुख्यालय फरेन्दा के नये आवासीय भवनों का लोकार्पण तथा लखनऊ स्थित डाॅ0 शकुन्लता मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय परिसर में निःशक्त जन हेतु विशिष्ट स्टेडियम एवं विभिन्न जनपदों में स्थापित होने वाले 06 समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालयों का शिलान्यास भी किया।
यह समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालय जनपद मिर्जापुर की तहसील मड़िहान के ग्राम पटहराकला, जनपद गाजियाबाद के मसूरी, जनपद महाराजगंज के ग्राम धनेवा, जनपद एटा के ग्राम जलेसर बाहरचुंगी, जनपद बुलन्दशहर के ग्राम मूडीबकापुर तथा जनपद प्रतापगढ़ की तहसील रानीगंज के ग्राम चलाकपुर में बनाए जाएंगे। निःशक्त जन हेतु विशिष्ट स्टेडियम प्रदेश का पहला स्टेडियम होगा। यहां निःशक्त खिलाड़ियों के लिए बाधारहित वातावरण सृजित किया जाएगा। परियोजना की अनुमानित लागत 50.66 करोड़ रुपए है।
इस अवसर पर वाराणसी वासियों को बधाई देते हुए श्री यादव ने कहा कि वाराणसी में वरुणा नदी के चैनलाइजेशन एवं तटीय विकास परियोजना के तहत किमी0 9.75 से 10.25 का विकास माॅडल के तौर पर कराया गया है, जिसका लोकार्पण किया जा रहा है। परियोजना के तहत वाराणसी शहर में 10 कि0मी0 से अधिक लम्बाई में विभिन्न स्थानों पर नदी के चैनलाइजेशन के साथ-साथ 05 घाटों एव 07 सीढ़ियों का निर्माण एवं पुनरुद्धार, शहर के अंदर नदी के दोनों तरफ फुटपाथ, रेलिंग एवं प्रकाश व्यवस्था का कार्य कराया जाना है। साथ ही, फुटपाथ और घाटों पर प्रकाश व्यवस्था के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल करके हाईमास्ट तथा स्ट्रीट लाइट का काम भी कराया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने लखनऊ में गोमती रिवरफ्रण्ट तथा वृन्दावन में यमुना के तटीय विकास का कार्य भी कराया है। गोमती रिवरफ्रण्ट के विकास से लखनऊ वासियों को घूमने के लिए एक बेहतरीन और मनोरम स्थल मिला है। गोमती रिवरफ्रण्ट के विकास में जैसा काम हुआ है, वैसा अच्छा काम और कहीं नहीं हुआ। दुनिया की विभिन्न रिवरफ्रण्ट विकास परियोजनाओं की तारीफ करने वालों को लखनऊ आकर गोमती का किनारा भी देखना चाहिए। साइकिल ट्रैक और जाॅगिंग टैªक पर ऐसे पौधे लगाए गए हैं, जो अलग-अलग मौसमों में फूल देते हैं। इससे यहां पर हर मौसम में फूल खिले हुए मिलेंगे।
श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने जितना काम किया है, उतना काम किसी भी अन्य सरकार ने नहीं किया है। समाजवादी पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का आज शिलान्यास किया जा रहा है। यह सड़क प्रदेश के पूर्वी इलाके में गाजीपुर, बलिया तक जा रही है। इस एक्सप्रेस-वे के बन जाने से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे और यमुना एक्सप्रेस-वे के जरिए प्रदेश का पूर्वी इलाका दिल्ली से जुड़ जाएगा।
06 लेन का यह एक्सप्रेस-वे 08 लेन तक बढ़ाया जा सकेगा। इसके पूरा होते ही पूरे प्रदेश को आपस में जोड़ने के साथ ही देश की राजधानी दिल्ली तक जाने वाला, इतना लम्बा एक्सप्रेस-वे पूरे देश में नहीं होगा। इस एक्सप्रेस-वे पर बनने वाली मण्डियां तथा अन्य शैक्षिक, औद्योगिक और व्यावसायिक संस्थान प्रदेश की अर्थव्यवस्था की तस्वीर बदल देंगे। इस एक्सप्रेस-वे के लिए शीघ्रता से जमीन मुहैया कराने के लिए किसानों का धन्यवाद करते हुए उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे के लिए 40 प्रतिशत जमीन ली जा चुकी है।
कार्यक्रम को सिंचाई राज्य मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह पटेल ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्रिगण सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के अधिकारी व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below