आज की ताजा खबर

ठण्ड और कोहरे ने बदल दिया दिनचर्या

आलोक कुमार श्रीवास्तव
विचारपरक संवाददाता
सिद्धार्थनगर 14 दिसम्बर, पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलो में पड़ रही कड़ाके की ठण्ड और कोहरे के चलते सामान्य जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इससे समूचा जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है ठंड और कोहरे के चलते नागरिको की दिन चर्या बदल गयी है। कोहरे का असर 15 दिनो सें जारी हैं। अभी इसमें राहत की केई उम्मीद नहीं हैैं मौसम वैज्ञानिकों का मानना हैं। कि दो दिनों के बाद कोहरें में और वृद्धि हो सकती हैं। इसमें जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। सिद्धार्थनगर जिले के प्रमुख स्थानों पर भी अलाव दिखाई नही देता है।
पूर्वी उत्तर प्रदेश में कोहरे के साथ ठण्ड में वृद्धि होने से लोग अधिक परेशानी अपेक्षाकृति अधिक हैं। ठण्ड के कारण लोग बीमार हो रहे है। दमा हृदय रोगियों और माइगे्रनसे पीडि़तों को विशेष सतर्कता बरतनेकी आवश्यकता हैं। ठण्ड जनित बीमारियोंका प्रसार तेजी से हो रहा हैं। इसके उपचार और बचाव सें प्रति विशेष सतर्कताकी जरूरत हैं। जगह-जगह पर अलाव जनानेकी व्यवस्था होनी चाहिए सड़क के किनारे रात गुजारनें वालो को आश्रम स्थलोंमें रखने और उनके लिए भोजन आदिकी समुचित व्यवस्था भी जरूरी हैं। जरूरतमंदों में ऊनी, कपड़े और कम्बल आदि वितरित किये जानें चाहिए इस कार्य में सरकार के अतिरिक्त स्वयंसेवी सामाजिक संस्थाओं को भी आगें होगा।
पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलो में दिन में नौ बजे तक सड़को पर सन्नाटा फैला रहता है केवल स्कूल जाने वाले बच्चें ही दिखाई पड़ते है। नागरिकों का दिनचर्या ठंड और कोहरे से प्रभावित हो गया है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर, बस्ती, सिद्धार्थनगर, संतकबीरनगर, देवरिया, कुशीनगर, गोण्डा, बलरामपुर, जिलो में सड़क रेल और सेवाओ पर काफी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा हैं। टेªन समय पर नहीं चल रही है। कुछ टेªन विलम्बित हैं, स्टेशनोंके प्लेटर्फोमों पर यात्रियों की भीड़ लगी हुई हैं। सड़को पर बस, ट्रक, कारों आदिका आवागमन अस्त व्यस्त हैं।
कोहरे के कारण विभिन्न स्थानों पर दुर्घनाएं हो रही हैं। मृतको और घायलों की संख्यामें वृद्धि हो रही हैं। ठंड से जन जीवन को बचाने के लिए अलाव जलाये जाने और गरीबो में ऊनी वस्त्र तथा कम्बल बाटे जाने की मांग जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री से किया गया है।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below