आज की ताजा खबर

जागरूक रहकर सड़क दुर्घटना रोका जा सकता है-लक्ष्मी नारायन लाल

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 15 जनवरी, परिक्षेत्र के डीआईजी लक्ष्मीनरायन लाल ने कहा कि जागरूकता अनवरत चलने वाला कार्यक्रम है। ऐसा नही है कि एक सप्ताह या एक महीना जागरूक रहकर हम जीवनभर की दुर्घटनाओं को रोक सकते हैं, इसे लिये हमें हर वक्त चैकन्ना रहना होगा। आारटीओ दफ्तर के यातायात पार्क में आयोजित सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।
उन्होने आगे कहा कि गत वर्ष देश भर में करीब डेढ़ लाख लोग सड़क हादसों के शिकार होकर असमय मौत के मुंह में समा गये। हम वाहन चलाते समय दूसरों की सुरक्षा का ध्यान रखें और अपनी तरह उसके भी जीवन की अहमियत समझें तो हादसों में कमी लायी जा सकती है। ऐसा करके हम खुद अपनी तो सुरक्षा तो करते ही है सामने वाले के लिये भी हम खतरा नही बनते। इसके लिये हमें संवदेनशील होना पड़ेगा। उन्होने परिवहन विभाग के द्वारा आयोजित कार्यक्रमों की सराहना करते हुये सभी के स्वस्थ व सफल जीवन कामना की।
इससे पूर्व आरटीओ डा. आरके विश्वकर्मा ने मुख्य अतिथि का माल्यार्पण कर स्वागत किया। डा. विश्वकर्मा, आरटीओ प्रवर्तन अनिल कुमार श्रीवास्तव, एआरटीओ (ए) अरूण प्रकाश चैबे, एआरटीओ (ई) अरूण कुमार, आरआई, एसवी राम, विनोद श्रीवास्तव, पीके गौतम, शिवानन्द सिंह, सचिन शुक्ला, शिवकुमार, रमेश, विकास मिश्रा, गया पाल, कोमल, बस टैम्पो यूनियन, स्कूली बच्चों तथा पत्रकारों को प्रशस्ति व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को आबकारी अधिकारी अनुराग मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार जयंत कुमार मिश्रा, विन्देश्वरी श्रीवास्तव, अशोक श्रीवास्तव, तारक जायसवाल सहित तमाम लोगों ने सम्बोधित किया और सड़क हादसों में कमी लाने के आवश्यक सुझाव दियेब।
सड़क सुरक्षा और यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिये गोण्डा से आये मंथन कल्चरल सोसायटी के दीपक श्रीवास्तव व साथी कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक, गीत और प्रहसन के जरिये अपनी छाव छोड़ी। आरटीओ डा. विश्वकर्मा ने उपस्थित लोगों को सड़क सुरक्षा के लिये अपनाये जाने वाले सावधानियों की शपथ दिलाया। स्कूली बच्चों ने हेलमेट लगाने, शराब पीकर गाड़ी न चलाने, गति सीमा का पालन करने, ओवरटेकिंग के समय जरूरी सावधानी बरतने, ओवरलोड से बंचने, सीट बेल्ट बंाधने, वाहन चलाते समय मोबाइल पर बात न करने सहित तमाम सवाधानियों से जुड़े स्लोगन लिखी पट्टियों का प्रदर्शन कर सभी को प्रेरित किया। कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित कया गया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ अधिवक्ता आरके उपाध्याय ने किया।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below