आज की ताजा खबर

जल बचाये-जीवन बचाये

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
सिद्धार्थनगर 17 जुलाई, भू-जल सप्ताह दिनांक 16 से 22 जुलई 2019 तक मनाये जाने के संबध में जिलाधिकारी दीपक मीणा की अध्यक्षता एवं मुख्य विकास अधिकारी हर्षिता माथुर की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक सम्पन्न हुई।
जिलाधिकारी दीपक मीणा ने उपस्थित समस्त अधिकारियों को जानकारी देते हुए बताया कि जल के बिना जीवन संभव नही है। जल बचाये-जीवन बचाये, जल संरक्षित करे। जिलाधिकारी दीपक मीणा ने बताया कि हम सभी को वर्षा का जल संरक्षित करने की आवश्यकता है। वर्षा के जल को एकत्रित करें। जिलाधिकारी ने बताया कि पृथ्वी पर आज भी उतना ही जल है जितना पचास हजार लाख साल पहले पृथ्वी बनने के समय था। यह वही जल है जो हमारे सरोवर, तालाब, नदियों एवं समुद्रों के रूप में जमा है और वाष्पीकरण के द्वारा ऊपर जाकर बादल बनता है एवं वर्षा के रूप में फिर जमीन पर आकर सरोवर, तालाब, नदियों एवं समुद्र को भर देता है। धरती पर मात्र 3 प्रतिषत जल पीने योग्य है। यही स्थिति रही तो तृतीय विश्व युद्ध शुद्ध पेयजल के लिए ही होगा।
जिलाधिकारी दीपक मीणा ने कहा कि इस दिषा में आज प्रयास नही किया गया तो हमारा कल असुरक्षित होगा। प्र्रत्येक व्यक्ति को अपने स्तर से भूगर्भ जल को सुरक्षित एवं संरक्षित रखने हेतु वैज्ञानिक प्रयास करने की आवश्यकता है। जहाॅ पानी है वहाॅ भी जल संरक्षण का सोचने एवं विचार करने की आवश्यकता है। जल संरक्षण हम सभी लोगों के लिए आवश्यक है अन्यथा इस धरती पर जीवन की परिकल्पना सम्भव नही है।
इस बैठक में उपरोक्त के अतिरिक्त सहायक अभियन्ता नलकूप, जिला कृषि अधिकारी सी0पी0 सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा. ज्ञान प्रकाश, जिला खाद्य विपणन अधिकारी संजय पाण्डेय, अधि0अभि0 ड्रेनेज खण्ड, विद्युत,लीड बैंक अधिकारी ओम प्रकाश अग्रहरि, जिला पूर्ति अधिकारी, किसान यूनियन के समस्त पदाधिकारी एवं किसान व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below