आज की ताजा खबर

चिक्त्सिक निष्ठा पूर्वक मरीजो की सेवा करे- सिद्धार्थ नाथ सिंह

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
सिद्धार्थनगर 8 मई , उत्तर प्रदेश सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मन्त्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज जिला सयंुक्त चिकित्सालय का निरीक्षण किया गया।और चिक्त्सिको को निर्देष दिया कि मरीजो की सेवा निष्ठा पूर्वक करे।निरीक्षण करते समय जनरल वार्ड, प्रसूति गृह, इमरजेंसी वार्ड एवं अस्पताल में लगे वाटर कूलर के पानी की क्वालिटी को भी देखा गया।मुख्य चिकित्सा अधिकारी,मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को सयंुक्त रूप से निर्देष दिया कि जिला चिकित्सालय के अन्दर जो भी आवष्यक सुविधायें मरीजों के लिए जरूरी है उसकी पूरी रिपोर्ट बनाकर मुझे दो दिन के अन्दर उपलब्ध कराये, जिससे इस सम्बन्ध में तत्काल कार्यवाही सुनिष्चित की जा सके। जिला चिकित्सालय में एक महिला मरीज से पूछा गया कि अस्पताल से दवायें दी जा रही है या नही, महिला मरीज ने बताया कि अस्पताल मे जो दवायें उपलब्ध रहती है उसे मरीजों को उपलब्ध करायी जाती है। इसके अलावा अस्पताल की साफ-सफाई व्यवस्था के साथ ही साथ सभी डाक्टर अपनी ड्यिूटी पर समय से उपस्थित होकर मरीजों का इलाज करे तथा साथ ही साथ मरीजों को अनावष्यक रूप से महंगी दवाईयां लिखकर उन्हें परेषान न किया जाये। अस्पताल के अन्दर सरकार द्वारा अच्छी से अच्छी दवायें उपलब्ध करायी गयी है जिससे हर मरीज उन दवाओं से लाभ प्राप्त कर सके।
निरीक्षण कार्यक्रम के पश्चात अम्बेडकर सभागार में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सम्बन्धी समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। इस बैठक में मन्त्री को सर्वप्रथम जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू द्वारा बुके प्रदान कर स्वागत किया गया।
स्वागत का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद बैठक की अध्यक्षता करते हुए स्वास्थ्य मन्त्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने जिला चिकित्सालय हेतु तैयार की गयी कार्य योजना के अनुसार उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि जनपद सिद्धार्थनगर के जिला चिकित्सालय हेतु जो भी आवष्यक सुविधायें होनी चाहिए सभी सुविधायें उपलब्ध करायी जायेगी।
जिला चिकित्सालय में महिला डाक्टरों की कमी एवं लक्ष्य के सापेक्ष डाक्टरों की कमी की बात रखी गयी। इसके अलावा विधायक इटवा द्वारा बताया गया कि सामुदसयिक स्वास्थ्य केन्द्र इटवा के अन्तर्गत कोई भी महिला डाक्टर उपालब्ध नही है। इसके अलावा विधायक शोहरतगढ़अमर सिंह चैधरी द्वारा बढ़नी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन निर्माण की माॅग की गयी।मन्त्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य उ0प्र0 लखनऊ सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी,मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देष दिया कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी गठित करके एन.एच.एम. के अन्तर्गत संविदा पर स्पेषलिस्ट महिला एवं पुरूष डाक्टरों की भर्ती कर ली जाये जिससे जनता को इसका लाभ मिल सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजेन्द्र कलूर को निर्देष दिया कि जनपद के समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का सत्यापन कराकर जहाॅ पर महिला,पुरूष डाक्टरों की कमी है उनकी सूची एवं साथ ही साथ जिला चिकित्सालय में वार्ड ब्वाय,नर्स आदि जो स्टाफ की कमियां है उसकी सूची तैयार कर दो दिन के अन्दर मुझे उपलब्ध करायें, जिससे इस सम्बन्ध में मेरे स्तर से कार्यवाही में तेजी लाकर भर्ती प्रक्रिया को सरल बनाया जा सके और जिला चिकित्सालय के अन्दर जो भी आपरेषन से सम्बन्धित एवं अन्य सामग्रियों से सम्बन्धित आवष्यकताएं है अलग से प्रस्तुत की जाये जिससे शासन से धन आवंटित कराकर जिला सयंुक्त चिकित्सालय को उपलब्ध कराया जा सके।
इस अवसर पर सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल ने ामन्त्री चिकित्सा एवं स्वास्थ्य उ0प्र0 लखनऊ सिद्धार्थ नाथ सिंह मन्त्री का आभार प्रकट करते हुए कहा कि संवेदषीलता का यह प्रतिफल है कि उन्होंने सिद्धार्थनगर को पहली प्राथमिकता दी गयी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी,मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को स्पष्ट निर्देष दिये कि जे.ई./ए.ई.एस. के मरीजों को भर्ती करने के बाद उनका समुचित इलाज किया जाये।
अस्पताल के अन्दर कोई भी बेड खाली नही होना चाहिए। मरीजों का पूरा इलाज किया जाये। उन्हें अनावष्यक रूप से परेषान न करके रेफर न करें। इस प्रकार की षिकायत मिली तो सभी लोग दण्ड के भागी होगें। मन्त्री जी ने सभी डाक्टरों से अपील करते हुए कहा कि सरकार आप सभी लोगों के वेतन के प्रति अत्यन्त ही गम्भीर है। कोई भी डाक्टर प्राइवेट प्रैक्टिस नही करेगा। प्राइवेट प्रैक्टिस के सम्बन्ध में विधायक कपिलवस्तु श्यामधनी राही ने जिला चिकित्सालय में नियुक्त डा. उजैर अतहर के सम्बन्ध में मन्त्री जी से षिकायत की गया कि उनकी पत्नी का प्राइवेट नर्सिंग होम है वे अक्सर शाम के समय वहाॅ बैठते है।
इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी को जाॅचकर रिपोर्ट प्रेषित करने का निर्देष दिया गया।
समीक्षा बैठक के इस अवसर पर उपरोक्त के अतिरिक्त मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार मिश्र, डिप्टी सी.एम.ओ. डा. विजय कुमार, डा. एम.एम. सिंह, समस्त पी.एच.सी./सी.एच.सी. के डाक्टरों की उपस्थिति रही।निरीक्षण के समय मन्त्री आबकारी एवं मद्य निषेध जय प्रताप सिंह, सांसद डुमरियागंज जगदम्बिका पाल, विधायक कपिलवस्तु (अनु.जा.) श्यामधनी राही, विधायक शोहरतगढ़ अमर सिंह चैधरी, विधायक इटवा डा. सतीष द्विवेदी, जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू, पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राजेन्द्र कपूर, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक रोचस्मति पाण्डेय, क्षेत्राधिकारी सदर मो. अकमल खान, थानाध्यक्ष सिद्धार्थनगर षिवाकान्त मिश्र व जिला चिकित्सालय के समस्त डाक्टर शाबान व पार्टी के कार्यकर्ता एवं जनता, मीडिया प्रतिनिधियों आदि की उपस्थिति रही।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below