आज की ताजा खबर

गौर थाने के निरीक्षण में मिली कई कमियां

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 15 दिसम्बर, जिलाधिकारी डा0राजशेखर द्वारा शनिवार को गौर थाने का निरीक्षण किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी को कई कमियां मिली है। इन कमियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उसे दूर करने का निर्देश दिया गया है।
आज यहां यह जानकारी देते हुए सरकारी सूत्रों ने बताया है कि गौर थाना एक पुराने भवन में चल रहा है, थाने के भवन निर्माण हेतु जिलाधिकारी द्वारा विगत दिनों जमीन आवंटित किया गया था लेकिन जमीन पर मुकदमा चलने के कारण भवन का निर्माण नहीं हो पाया। जिलाधिकारी ने पुलिस अधीक्षक से कहा कि ग्राम सभा द्वारा आवंटित भूमि को लेकर यदि कोई बांधा न हो तो जमीन को अधिकृत कर लिया जाय। इस मौके पर जिलाधिकारी द्वारा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति उत्पीड़न पंजिका, महिला उत्पीड़न रजिस्टर, शस्त्र लाइसेंस रजिस्टर , त्योहार रजिस्टर, थाना दिवस रजिस्टर, सम्पूर्ण समाधन दिवस रजिस्टर, एससी, एसटी, महिला उत्पीड़न रजिस्टर और थाना दिवस पंजीकरण रजिस्टर अद्यतन पाया गया। शस्त्र लाइसेंस रजिस्टर कई सालों से अपडेट नहीं किया गया था और यह काफी खराब स्थिति में है। पिछले 4 से 5 वर्षों के दौरान कई प्रविष्टियां अपडेट नहीं की गईं हैं। कई मामलों में जारी किए गए लाइसेंस के संबंध में रजिस्टर में कोई प्रविष्टि नहीं है।
थाना निरीक्षण की तिथियां 2 महीने पहले निर्धारित की गई थीं और एसएचओ के पास रजिस्टरों को अपडेट सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त समय था। लेकिन उन्होंने इसमें कुछ भी नहीं किया। हाल ही में डीएम ने एसपी से रजिस्टर अपडेट करने का निर्देश दिया है लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है।
इसे गंभीरता से लेते हुए डीएम ने एसपी को अगले तीन दिन के भीतर एसएचओ के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया। साथ ही 31 दिसंबर तक सभी अभिलेख अद्यतन करके डीएम को अवगत कराने का भी निर्देश दिया।
कई रिमाइंड करने के बाद भी, थानाध्यक्ष सम्पूर्न समाधन दिवस के प्रार्थनापत्रों और निस्तारण संबंधी ब्यौरे की प्रति नहीं रखते हैं।
और रजिस्टर में न ही आवेदक के मोबाइल नम्बर का ही उल्लेख किया जा रहा है। निस्तारण का व्योरा और मोबाइल नंबर के बगैर गुणवत्ता जांच संभव नहीं है। इसे घोर आपत्तिजनक करार देते हुए जिलाधिकारी ने तीन दिन के भीतर इस संबंध में उचित कार्रवाई करने का निर्देश पुलिस अधीक्षक को दिया है।
जिलाधिकारी ने थाना दिवस में आवेदकों के प्रार्थनापत्रों एवं फरियादियों के समस्याओं की सुनवाई किया। थाना दिवस में अधिकांश भूमि विवादों से संबंधित मामले आये।
जिलाधिकारी ने अपनी मोबाइल से कुछ आवेदकों से निस्तारण के गुणवत्ता संबंधी क्रास चेक किया गया। निस्तारण की गुणवत्ता संतोषजनक पाई गई।
सरकारी सूत्रों ने बताया है कि इस मौके पर पुलिस अधीक्षक दिलीप कुमार तथा अपर पुलिस अधीक्षक पंकज सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below