आज की ताजा खबर

गौरक्षा सम्मेलन का आयोजन हुआ

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बस्ती 4 दिसम्बर, श्री गौशाला कठार जंगल बस्ती में मार्गशीर्ष पूर्णिमा के अवसर पर गौरक्षा सम्मेलन का आयोजन देवयज्ञ द्वारा किया गया। गौसंवर्द्धन हेतु वेद मंत्रों से आहुतियाॅ दी गयी। यज्ञोपरांत ओम प्रकाश आर्य द्वारा विधि विधान से गौपूजन किया गया। गौग्रास खिलाते हुए कहा कि हम सबको गौमाता की सेवा तन मन धन से करनी चाहिए तभी हम खुशहाल होंगे। गाय के बचने से ही गाॅव व कृषि बच सकेगी।
यज्ञाचार्य पं0 विधान चन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि देशी प्रजाति की गाय हमारे जीवन का आधार है। वर्तमान में देशी प्रजाति पर पूरे विश्व में शोध चल रहा है। कुछ राज्यों में इसके पालन व संवर्द्धन के लिए सरकार भी कम ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवा रही है। गौसेवा से ही महाराज दिलीप को पुत्र रत्न प्राप्त हुआ था। गौसेवा से व्यक्ति निर्वैर हो जाता है जिससे आपसी भाईचारा भी बढ़ता है। किसानों को विभिन्न प्रकार के कृषि उपयाोग बताते हुए कहा कि गोमूत्र दूध से ढाई गुना मॅहगा है पर इसकी उपयोगिता की जानकारी न होने से हमारे किसान भाई गोवंश को अनुपयोगी समझकर बेंच दे रहे हैं जबकि केवल गोबर गोमूत्र देने वाले गोवंश कम उपयोगी नहीं हैं। आदित्य नारायण गिरि ने कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान है हमारे पूर्वजों ने इसका आधार गाय को माने हुए विभिन्न प्रकार के त्यौहार जैसे गोपाष्टमी, गोवर्द्धन पूजा आदि बनाकर उसकी रक्षा एवं संवर्द्धन में लीन रहते थे पर कुछ दशक पहले विदेशी षडयन्त्रों के तहत इसे अनुपयोगी सिद्ध कर दिया गया। वास्तव में गाय हमारा पालन ही नहीं करती बल्कि हमें रोगमुक्त व समृद्ध भी बनाती है।
इस कार्यक्रम में रवि कुमार मिश्र मुख्य यजमान रहे। कार्यक्रम का संचालन करते हुए देवव्रत आर्य ने बताया कि गोघृत जलाने से निकलने वाली गैसे अशुद्ध वायु को अपनी ओर खींचकर शुद्ध करती है तथा इसका गोबर और गोमूत्र रासायनिक खादों का बेहतर विकल्प है इसका उपयोग करके अधिकाधिक उत्पादन भी किया जा सकता है तथा रोगमुक्त अन्न प्राप्त किया जा सकता है। इस अवसर पर योग शिक्षक सुभाष चन्द्र आर्य, नवल किशोर, वशिष्ठ गोयल, नमन बरनवाल, आनन्द स्वरूप आर्य, मुन्ना प्रसाद चैधरी आदि ने अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के अन्त में प्रधान न्यासी चन्द्रशेखर मिश्र ने सबके प्रति आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर आर सी त्रिपाठी, हरिशंकर त्रिपाठी,श्रवण कुमार, नवल किशोर चैधरी, राधेश्याम आर्य, रवि प्रकाश,डीएम मिश्र,प्रमोद कुमार मिश्र,रामधीरज गुप्ता,दीपक कुमार मिश्र, अष्टभुजा, राजेश यादव, विमल कुमार, पंकज चैधरी, सत्यनारायण, झिनकान चैधरी, आशुतोष मिश्र, सूर्यप्रकाश मिश्र, राजकुमार, राधेश्याम, ओम प्रकाश मिश्र, हरिशंकर त्रिपाठी, राम सहाय, चन्द्रभूषण, दिनेश चन्द्र, सिपाही लाल, कृष्ण कुमार गुप्ता, गोपाल मिश्र, घनश्याम, केडी उपाध्याय, भगवत प्रसाद, बाबूराम तिवारी, तुलसीराम, शिवमूरत रामनयन, विशाल सिंह, राधिका प्रसाद सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below