आज की ताजा खबर

गुरू ही ब्रम्ह है और ब्रम्ह ही गुरू-डा0 कमला देवी

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
बढ़नी (सिद्धार्थनगर) 13 अप्रैल, परसा स्टेशन स्थित डा.भीमराव अम्बेडकर लघु माध्यमिक विद्यालय में आयोजित पांच दिवसीय नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ के दूसरे दिन शांतिकुंज हरिद्वार से आयी डा. कमला देवी ने कहा कि गुरु ही ब्रह्म है और ब्रह्म ही गुरु है।बिना गुरु के ज्ञान संभव नहीं है।गुरु जी जिसके जीवन में न हो उसके हृदय के अज्ञानतारुपी अंधकार नष्ट नहीं हो सकता।गुरु की पहचान उसके सूरत से नहीं अपितु उसके सीरत से होता है।उन्होंने कहा कि गुरु में गु शब्द दुःख का नाश करता है।रु शब्द सांसारिक मायारुपी भ्रान्ति का नाश करता है।
उन्होंने मौजूद श्रद्धालुओं से गुरु की महिमा का वर्णन करते हुए कहा कि मनुष्य के जीवन में गुरु ब्रह्मा,विष्णु और शंकर हैं और गुरु साक्षात परब्रह्म परमेश्वर है। गुरु मनुष्य के अंदर सद्गुणों का निर्माण ब्रह्म के समान करना है और विष्णु के समान सद्गुणों की रक्षा करता है और शंकर के समान हृदय की बुराइयों का नाश करता है।
उन्होने कहा कि पाखंड और पाखंडियों को पहचानना चाहिए।पाखंड ने ही सबसे अधिक धर्म को नुकसान पहुंचाया है।उन्होंने इस अवसर पर गायत्री परिवार के बारे में कहा कि अखिल भारतीय गायत्री परिवार आचार्य श्रीराम शर्मा के द्वारा दिये गये उपदेश के मुताबिक अनेक प्रकार के लोककल्याणकारी अभियान को संचालित करता चला आ रहा है जिसमें बिना दहेज के विवाह को प्रोत्साहन देना,स्वच्छता मिशन,नशामुक्ति कार्यक्रम का आयोजन,नारी सशक्तिकरण कार्यक्रम हैं।
जिला पंचायत सदस्यध्जिला महामंत्री हियुवा अजय सिंह,प्रधान परसा स्टेशन रामचन्द्र शुक्ल,विधानसभा अध्यक्ष सपा हरिनरायन यादव,रामेश्वर चैधरी,फेलचन्द अग्रहरि,राजू श्रीवास्तव,भोला गुप्ता,रामराज मौर्या,जयप्रकाश गौड़,रामदेव वर्मा,गिरिजेश मिश्रा,रामदयाल,वेदप्रकाश श्रीवास्तव,रामकुमार पासवान,रामवृक्ष शर्मा,जितेन्द्र श्रीवास्तव,महेश कुमार,राकेश शुक्ला आदि लोग मौजूद थे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below