आज की ताजा खबर

गांवो के विकास गति को तेज किया जायेगा-कुणाल सिल्कू

(विचारपरक प्रतिनिधि द्धारा)
सिद्धार्थनगर 16 नवम्बर , षासन के निर्देषानुसार “चली गांव की चर्चा“ के सम्बन्ध में ग्राम पंचायतों के विकास कार्यो एवं जिला प्रषासन द्वारा समन्वय स्थापित किये जाने के लिए ग्रामों के विकास कार्य में यदि कोई अवरोध उत्पन्न हो रहा हो इस सम्बन्ध में जनपद के समस्त विकास खण्डों से एक-एक ग्राम प्रधानों की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट भवन के सेमिनार हाल में जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 वेद प्रकाष शर्मा और इस कार्यक्रम के आयोजक पंचायती राज विभाग जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह एवं अन्य विकास कार्यो से जुड़े अधिकारियों की उपस्थिति में जनपद के समस्त विकास खण्डों से आये ग्राम प्रधानों को जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू ने आभार प्रकट करते हुए गांवों की समस्या के सम्बन्ध में सभी ग्राम प्रधानों से परिचय प्राप्त कर क्रमवार जानकारी प्राप्त की गयी।
जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू ने प्रधानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शासन द्वारा जारी निर्देषानुसार गांव की जो मूलभूत आवष्यक समस्याएं है उसे सर्वप्रथम प्राथमिकता के आधार पर ठीक कराया जाये। जिलाधिकारी ने बताया कि शासन इसके लिए अत्यन्त ही गम्भीर है। स्वच्छ भारत मिषन के अन्तर्गत सभी ग्रामों के प्रधानगण ग्रामवासियों में जागरूकता लाकर शौचालय का निर्माण कराये तथा साथ ही साथ जो भी लाभार्थी है उन्हें शौचालय निर्माण की सहयोग धनराषि उनके खातों के माध्यम से दी जाये तथा साथ ही साथ इस बात का ध्यान रखा जाये कि शौचालय निर्माण हेतु जो सामग्री आपूर्ति फर्म द्वारा की जाती है उसके भुगतान आदि के सम्बन्ध में पारदर्षी तरीका अपनाया जाये। सभी ग्राम प्रधानगण ग्रामों को खुले में शौच मुक्त कराने के लिए प्रयास करें जिससे जनपद के ग्रामों को खुले में शौच मुक्त घोषित किया जा सके।
मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार मिश्र ने बताया कि ग्रामों के विकास के लिए और बेहतर तरीके से विकास किये जाने के लिए सभी ग्राम प्रधानों को अपने कर्तव्यों के प्रति सतर्क होकर कार्य करने की आवष्यकता है इसके लिए सभी प्रधानगण बिना किसी भेद-भाव के गांव के आवष्यक समस्याओं का निराकरण कराते हुए विकास कराया जाये। जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने बताया कि पंचायती राज विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के सिद्धान्तों के बारे में लानकारी देते हुए कहा कि 14वां वित्त आयोग के संस्तुतियों के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों को आवंटित धनराषि से गांवों की मूलभूत सुविधाओं जैसे-पेयजल सुविधा, स्वच्छता, सेप्टिक प्रबन्धन, ठोस एवं तरल अपषिष्ट प्रबन्धन (एस0एल.डब्लू0एम0) सीवेज, बाढ़ के पानी की निकासी, सामुदायिक सम्पत्तियों का रख-रखाव, सड़को का रख-रखाव, फुटपाथ, स्ट्रीट लाइट, कब्रिस्तान/ष्मषान भूमि एवं अन्य मूलभूत सुविधाओं जिसका कार्य राज्य सरकार द्वारा ग्राम पंचायतों को दिया गया है के निर्माण/रख-रखाव पर व्यय किया जायेगा।
“चली गांव की चर्चा“ के कार्यक्रम के दौरान विकास खण्ड उसका बाजार के ग्राम सुगही के ग्राम प्रधान मनोज कुमार दूबे, वि0ख0 खुनियावं के ग्राम टेउंवा ग्रान्ट के ग्राम प्रधान जुबेर अहमद, वि0ख0 जोगिया के ग्राम जोगिया के प्रधान अरविन्द कर पाठक, वि0ख0 खेसरहा के ग्राम मरवटिया बाजार के ग्राम प्रधान रमजान अली, वि0ख0 बर्डपुर के ग्राम पिपरसन के ग्राम प्रधान सर्वेष जायसवाल, वि0ख0 लोटन के ग्राम रमवापुर के ग्राम प्रधान ध्रुव नरायण, वि0ख0 मिठवल के ग्राम कपिया शुक्ल के ग्राम प्रधान मो9 याकूब, वि0ख0 इटवा के ग्राम सेहरी के ग्राम प्रधान राधेष्याम, वि0ख0 बढ़नी के ग्राम परसा स्टेषन के ग्राम प्रधान राम चन्द्र शुक्ल, वि0ख0 भनवापुर के ग्राम मल्हवार के ग्राम प्रधान प्रेमचन्द्र, वि0ख0 डुमरियागंज के ग्राम पिरैला सुल्तान के ग्राम प्रधान विजय बहादुर लाल, वि0ख0 शोहरतगढ़ के ग्राम ऐकडैगवा भावपुर ग्राम प्रधान संजय, वि0ख0 नौगढ़ के ग्राम लुचुइया के ग्राम प्रधान सतीष सिंह, वि0ख0 बांसी के ग्राम संराव के ग्राम प्रधान शोहरत, वि0ख0 शोहरतगढ़ के ग्राम लुचुइया के ग्राम प्रधान पवन मिश्रा, वि0ख0 बर्डपुर के ग्राम चकईजोत के ग्राम प्रधान सुनील यादव द्वारा जिलाधिकारी श्री कुणाल सिल्कू को गांवों के विकास कार्यो एवं आवष्यक अन्य सुविधाओं के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।
इस अवसर पर उपरोक्त के अतिरिक्त पी0डी0 सन्त कुमार, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी,प्र0 जिला सूचना अधिकारी आषुतोष पाण्डेय, उप कृषि निदेषक डा0 पी0के0 कन्नौजिया, जिला समाज कल्याण अधिकारी मीनाक्षी वर्मा व अन्य उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below