आज की ताजा खबर

खुले मे शौच न करने के लिए दिया गया सन्देश

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
शोहरतगढ़ (सिद्धार्थनगर) 24 दिसम्बर , विकास खण्ड शोहरतगढ़ अन्तर्गत ग्राम पंचायत दहियाड़ के लौसा ग्राम में समुदाय आधारित सम्पूर्ण स्वच्छता (ब्सजे) के तहत पांच दिवसीय विधा कार्यक्रम चलाया गया। ब्लॉक से आयी टीम में हरिशचंद्र, सुनील कुमार वर्मा, हरिराम यादव, जमाल अहमद, शांति देवी के साथ साथ ग्राम विकास अधिकारी संत अखिलेश्वर तथा ग्राम प्रधान प्रतिनिधि पिन्टू पटेल की मौजूदगी बनी रही। ग्रामवासियों को इकठ्ठा करके खुले में शौच से होने वाली बीमारियों के बारे में बताते हुए शांति देवी ने मल की गड़ना तथा नारी सम्मान के बारे में लोगों को जागरूक करते हुये बताया कि बहू बेटियां घर की मर्यादा है, सरकार की योजना का लाभ लेते हुये इन्हें खुले में शौच मुक्त किया जाये, वही ग्राम विकास अधिकारी संत अखिलेश्वर ने कार्यक्रम को सफल बनाते हुये मानव और पशु में अन्तर बताया।
ब्लाक से आयी सीएलटीएस टीम ने ग्राम पंचायत में पांच दिन रहकर जागरूकता कार्यक्रम, रैली कार्यक्रम, मशाल जुलूस आदि निकालकर निगरानी समिति भी बनाये। समुदाय आधारित सम्पूर्ण स्वच्छता (ब्सजे) के तहत पांच दिवसीय विधा कार्यक्रम के अन्तिम दिन जिले से आये जिला समन्यवक संजय त्रिपाठी ने बताया कि लोगों के घरों में मोबाइल और मोटर साइकिल तो मौजूद है लेकिन शौचालय नहीं, जो की बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने ग्राम लौसा में सीएलटीएस शौच मुक्त के लिए ग्राम वासियों में जागरूकता फैलाने के लिए बच्चों संग कैन्डिल मार्च निकालकर खुले में शौच के खिलाफ नारा ष्मम्मी पापा शर्म करो, खुले में हगना बन्द करोष् लगवाते हुए गांव भ्रमण भी किया।
उन्होंनें शौचलय निर्माण के फायदे के साथ खुले में शौच से होने वाले रोग एवं हानियों के बारें में भी लोगों को बताया। प्रधान प्रतिनिधि पिन्टू पटेल ने ग्रामवासियो को जागरूकता के प्रति अमल करने की हिदायत भी दी। इस दौरान प्रेरक शाद अहमद, विनोद मिश्रा, मनीष वर्मा, शैलेन्द्र दूबे, बाल गोविन्द, श्यामानन्द, धीरेन्द्र चैधरी, राजेन्द्र चैहान, रंजीत चैधरी, लालू, राकेश, अमर सहाय, रक्षा आदि सहित ग्रामीण मौजूद रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below