आज की ताजा खबर

खलीलाबाद में शिक्षा मित्र धरना दे रहे है

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
संतकबीरनगर 30 जुलाई, खलीलाबाद जूनियर हाईस्कूल के प्रांगण में आज पांचवे दिन शिक्षामित्रो का धरना जारी रहा। शिक्षामित्रो के आन्दोलन को देखते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ए0के0 वर्मा के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस बल एवं जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। उनके हर गतिविधियो पर पुलिस प्रशासन की गोपनीय इकाई निगरानी बनायी रखी हुई है। शिक्षामित्रो का लगातार आन्दोलन के साथ नारेबाजी करते हुए प्रदेश सरकार से मांग कर रहे है कि उनके रोजी रोटी के लिए तत्काल व्यवस्था की जाय तथा न्यायालय में केन्द्र सरकार शिक्षामित्रो के पक्ष में पहल कर न्याय दिलाने का कार्य करे।
समायोजित हुए शिक्षामित्रो का आन्दोलन धारा 144 लागू होने के बाद भी जूनियर हाईस्कूल में शिक्षक शिक्षामित्र संयुक्त संघर्ष मोर्चा के जिलाध्यक्ष रणजीत राय के नेतृत्व में सैकड़ो की संख्या में शिक्षामित्र अपना धरना जारी रखा है। आज शिक्षक शिक्षामित्र संयुक्त संघर्ष मोर्चा के बैनर तले संगठन के जिलाध्यक्ष रणजीत राय के नेतृत्व में शिक्षामित्रो ने खलीलाबाद सदर विधायक दिग्विजय नारायण जय चैबे ने शिक्षामित्रो से भेंट कर अपने विकट संकट के समय को अवगत कराते हुए अपनी समस्या को बताया शिक्षामित्रो ने जिला प्रशासन द्वारा किये गये फर्जी मुकदमे का भी आरोप लगाते हुए मुकदमा वापस किये जाने की मांग की वार्ता के बाद खलीलाबाद सदर विधायक जय चैबे ने शिक्षामित्रो का ज्ञापन लिया तथा उन्हे आश्वासन दिया कि शिक्षामित्रो का मामला जिले स्तर ही पूरे प्रदेश में है और प्रदेश की सरकार जल्द ही उनके हित में निर्णय लेगी उन्होने शिक्षामित्रो को सचेत करते हुए कहा कि कोई भी ऐसा कदम न उठाये जिससे सरकारी चल-अचल सम्पत्ति को नुकसान पहुचे अव्यवस्था फैले आम जनमानस को उनके आन्दोलन से परेशानियो का सामना करना पड़े ऐसे अहित कार्यो से बचे। शिक्षामित्रो ने अपना 3 सूत्रीय मांग पत्र सदर विधायक दिग्विजय नारायण जय चैबे के माध्यम से मुख्यमंत्री को प्रेषित किया।
सदर विधायक जय चैबे के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर मांग किया है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रदेश में मचा हाहाकार को शान्त करने एवं शिक्षामित्रो की रोजी रोटी बरकरार रखने के लिए उनके हित में कदम उठाये संविधान में तत्काल संशोधन करते हुए पुनः शिक्षक के पद पर शिक्षामित्रो की नियुक्ति की जाय। जब तक संविधान के प्रक्रिया में संशोधन नही लागू होगा। पूर्व आदेशानुसार समस्त शिक्षको को समायोजित शिक्षक, शिक्षामित्रो के सामान्य कार्य व वेतन दिया जाय। इसके साथ ही उन्होने बेसिक शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन देकर मांग किया है कि समायोजित शिक्षको पर लगाये गये फर्जी मुकदमा वापस लिया जाय। धरने में प्रमुख रूप से हनुमान चैरसिया, सहित भारी संख्या में शिक्षामित्र शामिल रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below