आज की ताजा खबर

किसान डंठलों को खेत में न जलायें

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
सिद्धार्थनगर 15 मार्च, गेहू की फसल खेत में पककर तैयार है। शीघ्र ही कटाई शुरू होनी है। अधिकतर कटाई कंबाइन मशीनो से होती है। खेतो में बड़े-बड़े डंठल अवशेष के रूप में बच जाते है।
इन्हे किसान खेतो में न जालाएं इससे खेतो की उर्वरक शक्ति नष्ट हो जाती है। विभिन्न फसलों को परिपक्व होने में 16 पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। इन 16 तत्वों में कार्बन , हाइड्रोजन और आक्सीजन प्रकृति से मिलते है। खेतो में डंठल जलाने से जमीन के 13 तत्व नष्ट हो जाते है इससे भूमि उर्वरक शक्ति नष्ट हो जाती है और उतपादन प्रभावित होता है। किसान डंठल को खेतो में जलाने के बजाय सिंचाई कर के सडा-गला दे। भूमि को जैविक , खााद्य मिलेगी जो कि उत्पादन बढ़ाने में सहायक होगी।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts