आज की ताजा खबर

किशोरियों को प्रशिक्षण देकर जागरूक किया गया

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
संतकबीरनगर 28 मार्च, मीना, पावर एंजिल का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के अन्तिम दिन आज प्रातः कालीन सत्र में सर्व प्रथम कल कराये गये ग्रुप का प्रस्तुतीकरण करया गया। प्रस्तुतीकरण हेतु कुल 13 गु्रप बनाये गये थे। इन गु्रपो द्वारा सामाजिक बुराईयो जैसे दहेज प्रथा, बाल विवाह, छुआछूत, लिंगभेद आदि पर अपने विचार रखे तथा अन्य बच्चो द्वारा इसमें और विचारो को जोड़ा गया।
इसके अतिरिक्त बालिकाओ को शारिरिक परिवर्तन एवं स्वच्छता सम्बन्धित जानकारी श्रीमती उषा जी द्वारा दिया गया। इसके अन्तर्गत मासिक चक्र एवं अन्य शारिरिक पविर्तन की जानकारी प्रदान की गयी।
इस जानकारी हेतु विशेष प्रकार के टूल व फिल्म का भी प्रयोग किया साथ ही बालिकाओ से अपने वर्ग की अन्य बालिकाओ से बातचीत करने तथा आज बतायी गयी। जानकारी को बाटने हेतु प्रेरित किया गया। कार्यक्रम के अन्तिम सत्र में कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में अनीता यादव थानाध्यक्ष महिला थाना जनपद संतकबीरनगर द्वारा प्रतिभाग किया गया।
अपने अभिभाषण में थानाध्यक्ष ने अपने बचपन की घटनाओ को बताते हुए, बालिकाओ को खुल कर बात करने हेतु प्रेरित किया, साथ ही उन्होने बताया कि शासन के स्तर से प्रत्येक जनपद में एक महिला थाने की स्थापना की गयी है। जिसमें महिलाये व बालिका एवं भयमुक्त वातावरण मे अपनी समस्याओ को बता सके तथा उनका समााान कर सके, इसके अतिरिक्त महिला हेल्पलाइन महिलाओ के अधिकार के संदर्भ में चर्चा की गयी कार्यक्रम में विभिन्न विकास क्षेत्रो के विभिन्न विद्यालयो एवं कस्तुरबा गांधी बालिका विद्यालयो से 130 उच्च प्राथमिक वर्ग की बालिकाओ ने प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम में दुर्गेश यादव, गरिमा रावत, रामकुमार, आभाकान्त, वन्दना त्रिपाठी सुमन सिंह सहित विभिन्न विद्यालयो की अध्यापक एवं अध्यापिकाओ द्वारा भी प्रतिभाग किया गया।
कार्यक्रम में मास्टर ट्रेन के रूप में दो दिवस से संदीप वर्मा, सुखदा अग्निहोत्री एवं अख्तर आलम ने बच्चो को प्रशिक्षित किया। धन्यवाद ज्ञापित करते हुए जिला समन्वयक रजनीश वैद्यनाथ ने कहा कि हम अपने समस्त बच्चो से अनुरोध करते है कि समाज में स्कूल में घर पर या आसपास बालिकाओ के साथ हो रहे गलत बर्ताव पर विरोध करे, परिवार के सदस्यो से बात करे व मीना से आहवाहन किया कि वे इस तरह की घटनाओ को हेल्पलाइन या महिला थाने से सहयोग प्राप्त कर दूर कर सकती है तथा अंत में आये अतिथियो एवं बच्चो सहित समस्त प्रशिक्षको एवं अध्यापको को धन्यवाद प्रदान किया।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below