आज की ताजा खबर

उत्तर प्रदेश में शराब बंदी लागू किया जाय

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा)
डुमरियागंज (सिद्धार्थनगर) 27 मार्च, डुमरियांगंज तहसील क्षेत्र के जागरूक नागरिको ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से मांग किया है कि बिहार की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में भी शराब बंदी लागू किया जाय। शराब बंदी समय की जरूरत है शराब पीकर परिवार के बीच आने वाला व्यक्ति सभी परिजनो को असहज किये रहता है घरेलू हिंसा की एक बड़ी वजह शराब मानी जातह है। शराब जहां समाज में वर्जित होना चाहिए। शराब इन दिनो फैशन का रूप ले रहा है। युवा से लेकर मध्य और बूढे भी शराब पीकर कानून और व्यवस्था को तोड़ते है इन सबसें बचने का एक ही आसान रास्ता है कि शराब बंदी पूरे प्रदेश मे लागू किया जाये।

ALOK SRIVASTAVA JAKHAWLI

AWADH BIHARI SINGH

RAJESH KUMAR

RAMAN SRIVASTAVA JAKHAWLI

आज यहां ‘‘विचारपरक’’ से बात चीत में डुमरियागंज क्षेत्र के भड़रिया निवासी डा0 राजेश कुमार ने कहा है कि शराब बन्दी से कानून व्यवस्था में भी व्यापक पैमाने पर सुधार होगा और शराब से होने वाली अनेक प्रकार की हानियो से प्रदेश की जनता बच सकेगी।
जखौली निवासी रमन श्रीवास्तव ने कहा है कि प्रदेश की कानून व्यवस्था विगत वर्षो में काफी बिगड़ी हुई थी। इन सबके पीछे शराब भी एक बड़ी वजह है लोग शराब का सेवन करने के बाद होश खो बैठते है और अपराध करते है अधिकतर मामले तो घर की चहर दीवारी के अन्दर होते है एैसे मामले समाज के सामने नही आते एैसे में राज्य में बिहार प्रदेश की तर्ज पर पूर्ण शराब बंदी का नियम लागू किया जाना चाहिए।
तेंदुहार निवासी समाज सेवक अवध बिहारी सिंह ने कहा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी सरकार की तेवरो से यह उम्मीद जगी है कि इस मुद्दे पर सरकार कार्यवाही कर सकती है। सरकार शराब बंदी का कानून लागू करके शराब से होने वाले अपराधो को आसानी से रोक सकती है। शराब के नशे की हालत में किये जाने वाले अपराधो में सर्वाधिक शिकार महिलाओे को होना पड़ता है। ब्लात्कार की घटनाए व आसामाजिक गति विधियो पर शराब बंद होने से अंकुश लगेगा।
इस सम्बन्ध में जखौली निवासी आलोक श्रीवास्तव ने कहा है कि शराब बन्दी के मामले में पडोसी राज्य बिहार शराब बंदी का एक बड़ा उदाहरण है मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के कार्य प्रणाली से महिलाओं में यह आशा जगी है कि शराब बंदी से उन्हे लाभ मिलेगा। इससे परिवार का आर्थिक हालत सुधरेगा और शराबी परिवार के लोगो की सामाजिक मान्यता भी बढेगी, शराब के कहर में तमाम परिवारो की चल-अचल सम्पत्तिया बिक जाती है। शराब बंदी से समाज के सभी वर्ग के लोगो लाभ पहंुचेगा।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below