आज की ताजा खबर

अधिकारियों की कार्यप्रणाली प्रगति में अवरोधक है-पी0के0 सिंह

ALL UP NEWS VICHAR PARAK

(विचारपरक प्रतिनिधि द्वारा )
बस्ती 09 फरवरी, आयुक्त बस्ती मण्डल पी0 के0 सिंह ने कहा है कि निर्माण कार्याे में और प्रगति लायी जाए समय सीमा के भीतर निमार्ण कार्यो को पूरा करने के लिए अधिकारी सतर्क रहे।
आज यहा यह निर्देश उन्होने आयुक्त सभागार में मण्डलीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों से कहा कि शासन की प्राथमिकता वाली 75 विन्दुओं के चिन्हित कार्यक्रमों में संबंधित जनपदवार माह दिसम्बर 15 तक की प्रगति की समीक्षा किया और कहा कि अपेक्षित सफलता के लिए अधिकारीगण समय-समय पर कार्यांे की गहन समीक्षा करें। उन्होने मण्डल के विकास योजनाओ में अपेक्षित प्रगति न होने पर चिन्ता व्यक्त करते हुए सुधार पर बल दिया । समीक्षा बैठक सरकारी सूत्रो के मुताबिक आयुक्त ने राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, पारदर्शी किसान योजना, कुकुट विकास योजना, कामधेनु योजना, मिनीकामधेनु योजना, राज्य मार्ग योजना, जिला मार्ग योजना, ग्रामीण विद्युतीकरण योजना, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा योजना, कन्या विद्या धन योजना, कौशल विकास मिशन योजना, समाजवादी पेंशन, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, मल्टी सेक्टोरल डबलपमेंट प्लान, लेवर सेस, डा0 राम मनोहर लोहिया समग्र गा्राम, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, पाइप पेयजल योजना, लोहिया गा्रमीण आवास योजना तथा इंदिरा आवास योजना में हुयी अद्यतन प्रगति की समीक्षात्मक जानकारी प्राप्त हुए सभी योजनाओं में पूर्णगुणवत्ता के साथ लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति अर्जित करने का निर्देश दिया। उन्होनंे समीक्षा के दौरान बताया कि अबतक मण्डल में 167954 लाभार्थियों के सापेक्ष 151530 लाभार्थियों के खातें में समाजवादी पेंशन की धनराशि प्रेषित की जा चुकी है।
कौशल विकास योजना में समीक्षा के दौरान पाया गया कि मण्डल में 444 प्रशिक्षित लाभार्थियो में से मात्र 19 लाभार्थियों को रोजगार उपलब्ध कराया गया। उन्होने इस योजना में प्रगति ठीक न होने पर खिन्नता व्यक्त करते हुए प्रगति बढ़ाने का निर्देश दिया। इस योजना में लक्ष्य के सापेक्ष प्रशिक्षण की उपलब्धि जनपद सिव्द्धार्थ नगर में 89.6 प्रतिशत तथा संतकबीर नगर में 29.23 प्रतिशत है। उन्होनें डा0 राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए सभी अधिकारियों से कहा कि लाहिया गा्रमों केसमग्र विकास के लिए नियम रणनीति के तहत कार्य किया जाना सुनिश्चित किया जाय। पाइप पेयजल योजना के अन्तर्गत मण्डल में 18 परियोजनाओं का कार्य अभी तक आरम्भ नही है, केवल सिद्धार्थ नगर में एक पाइप पेयजल योजना, विद्युत कनेक्शन सहित पूर्ण है परन्तु इसका भी संचालन प्रारम्भ नही हुआ है। उन्होने अधिकारियों के शिथिल कार्यप्रणाली को प्रगति में अवरोधक बताते हुए कहा कि समय रहते अपने कार्यप्रणाली में रचनात्मक सुधार लावंे। समीक्षा में बताया गया कि वर्ष 2014-15 के अवशेष 11769 आवासों में से 7060इंदिरा आवास पूर्ण है। जबकि वर्ष 2015-16 के 17445 आवासों के सापेक्ष 13598 लाभार्थियो को प्रथम किस्त के रूप में रू0 56.51 करोड़ की धनराशि हस्तांतरित की गयी है।
जिलाधिकारी बस्ती अनिल कुमार दमेले ने स्वास्थ्य विभाग की प्रगति के अपेक्षा के अनुकूल बताते हुए कहा कि बस्ती जनपद विभिन्न कार्यक्रमों के 55 मदों में “ए” श्रेणी प्राप्त किया है। श्री दमेले ने समीक्षा बैठक में कहा कि चिन्हित कार्यक्रमों के अधिकांश मदों में बस्ती जनपद प्रथम स्थान पर है। आवश्यकता है कि प्रगति की जो गति दिसम्बर, जनवरी माह में रही वही गति और प्रयास की निरन्तरता कायम रहें। मण्डलीय समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी बस्ती, अनिल कुमार दमेले, , जिलाधिकारी सिद्धार्थ नगर डा0 सुरेन्द्र कुमार, संयुक्त विकास आयुक्त वी0पी0 पाण्डेय, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एन0एन0 राय सहित सभी विभाग के मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

About The Author

अनुराग श्रीवास्तव विचारपरक के पत्रकार है |

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enter the text from the image below